सालियों की अदलाबदली


Click to Download this video!
loading...

हेलो दोस्तों मैं किशोर हिमाचली से आज सबको अपनी एक और नई सेक्स कहानी लेकर आया हूं, आप सब का बहुत सारा प्यार लगातार मिल रहा है इसलिए मैं भी टाइम टू टाइम अपनी नयी कहानी आप सबके लिए लेकर आता रहता हूं.

आज की कहानी सबसे अलग कहानी है, तो दोस्तों मेरी आप सब से गुजारिश है कि आज की कहानी आप सब बड़े ध्यान से पढ़ो, और मुझे इस बात का यकीन है आप इस कहानी को पढ़ने के बाद मुठ जरूर मारेंगे, पहले थोड़ा में अपनी कहानी के बारे में बता दूं. दोस्तों मुझे पता है आपने काफी बार सुना होगा कि दो दोस्तों ने अपनी अपनी वाइफ को बदल कर चोदा.

loading...

पर मेरी आज की कहानी में आप यह जानेंगे कि मैंने और मेरे दोस्त प्रवीण ने कैसे अपने अपनी सालियों को आपस में बदल कर जमकर चोदा, यह कहानी काफी बड़ी हो सकती है इसीलिए मैं इसे पॉइंट से शुरु कर रहा हूं, जिस दिन से हम दोनों ने अपनी सालीयों को चोदने के बारे में सोचा था.

loading...

तो चलिए शुरू करते हैं.

मैं – यार प्रवीण मेरा दिल तो तेरी सारी शीला पर इस कदर आ गया है कि अब और नहीं रहा जाता मुझसे उसे चोदे बिना.. तू कुछ कर यार प्लीज.. अपने भाई के लिए.. उसको याद करते ही मेरा लंड एकदम खड़ा हो जाता है. तू उसको पटा कर मुझसे चुदवा दे, उसके बदले में चाहे तू मेरी वाइफ को चोद लियो. एक बार अपनी साली को रंडी बना दियो अपनी.. पर मुझे अपनी साली शीला एक बार चुदवा दे प्लीज भाई..

प्रवीण – ठीक है भाई.. तू फिकर मत कर मैं कुछ करता हूं. वैसे ही यार मैं तेरी वाइफ शिल्पा को चोदने का तो ना जाने कब से सोच रहा हूं. पर आज तुम ने खुद अपने मुंह से कह दिया है ना.. अब तो तू समझ मेरी साली शिला तेरे नीचे है बस, पर भाई साली तो तेरी भी है टीना याद है तुझे?

मैं – हां टीना मुझे याद हे..

प्रवीण – यार वह भी कुछ कम नहीं है, साली अब तो वह १८-१९ की हो गई होगी. भाई मुझे नहीं पता मुझे उसकी चूत मारनी है, इसके बदले तू मेरी वाइफ को जितना मर्जी जब चाहे चोद देना और मैं बता दूं कि मेरी शालू लंड बहुत ही अच्छे से चूसती है. लंड चाहे जितना मर्जी बड़ा हो शालू लंड को पूरा अपने गले में लेती है और फिर अपना गला चुदवाती है.

मैं – सच?

प्रवीण – मैं तो खुद शालू का गला चोदता हूं.. साली का गला भी चूत की तरह फाड़ कर रख दिया है मैंने तो.. और रही मेरी साली की बात उसे तो मैं तुझ से चूदवा दूंगा.. वह कोई बड़ी बात नहीं है मेरे लिए.. वह साली भी अब जवान हो गई है और वह भी अपनी बहन शालू की तरह अच्छे से लंड चूस लेगी..

मैं – हां मुझे पता है आखिर बहन भी तो शालू की है.

प्रवीण – ठीक हे फिर.. अब हम दोनों भाई अपनी-अपनी सालियों को पटाते हैं और फिर दोनों भाई एक दूसरे की सालियों को जमकर चोदेंगे.

मैं – ठीक है, जल्दी ही मिलते हैं.. देखते हैं दोनों में से कौन पहले अपनी साली को मनाता है ओके.

प्रवीण – ठीक है भाई, ठीक है.. तू देख लियो मैं ही जीतूंगा इसमें तो.

मैं – कोई बात नहीं देख लेते हैं.

फिर हम दोनों अपने अपने घर चले गए. दोनों अपने-अपने काम पर लग गए. मुझे पता था कि प्रवीण अपनी साली को मुझसे जरूर चूदवायेगा क्योंकि उसे मेरी वाइफ शुरू से ही बहुत पसंद है, वह उसे किसी भी कीमत पर चोदना चाहता है..

वह साला किसी भी हालत में कैसे भी करके अपनी साली शीला को पटा लेगा चूदाई के लिए. पर मेरी साली टीना का मुझे कुछ नहीं पता था..

इसलिए मैं अगले दिन ही टीना को अपने घर कुछ दिन रहने के लिए ले आया और घर आते ही मैंने उसके साथ शाम को घूमने का प्लान बनाया, क्योंकि मेरे पास अभी ज्यादा टाइम नहीं था. मुझे टीना को पटाकर शीला की चूत मारनी थी.

शाम को मैंने टीना को कार में बैठाया और हम दोनों लॉन्ग ड्राइव पर निकल लिए और रास्ते में ही मैंने उससे बातें शुरू कर दिया, वह भी अब जवान हो चुकी थी इसलिए उसे सब पता था. मैन्ने बात शुरू करते हुए कहा.

मैं – टीना तुम मेरी साली हो, तुम्हें इसका मतलब भी पता है?

टीना – क्या मतलब जीजू.. मैं समझी नहीं आप क्या कहना चाहते हो?

मैं – अरे टीना इसका मतलब तुम मेरी आधी घरवाली हो, और इसका मतलब कि जो कुछ भी मैं तुम्हारी दीदी के साथ करता हूं, उसका आधा मैं तुम्हारे साथ कर सकता हूं.

टीना – आधा क्यों जीजू? आप पूरा करो किसने रोका है..

मैं – नहीं पागल आधा ही करना होता है साली के साथ, पूरा करना गलत है…

टीना – नहीं जीजू आप कौन सी दुनिया में जी रहे हो, मेरे फ्रेंड मंजू है वह अपनी जीजू से सब कुछ करवाती है..

मैं – सब कुछ..

टीना – हां जीजू सब कुछ क्या? वह अपनी दीदी से ज्यादा ही करती होगी..

मैं – क्या मतलब है तुम्हारा सब कुछ से?

टीना – जीजू आप जो दीदी से करते हो वही सब कुछ..

मैं – टीना प्लीज तुम डिटेल में बताओ ना..

टीना – क्या जीजू आप भी ना.. वही जब एक लड़की नीचे लेटी होती है और लड़का उसके ऊपर आकर अपना वह उसके अंदर घुसा देता है.

मैं – क्या घुसा देता है?

टीना – क्या जीजू आप क्यों मेरा मुंह खुलवा रहे हो?

मैं – मेरी प्यारी साली मैं तुम्हारे मुंह से सुनना चाहता हूं.

टीना ने मेरे लंड पर हाथ रखा और बोली जीजू इसे.

मैं – इसका कोई नाम भी होता होगा.

टीना – अरे आप भी ना हद करते हो, लंड घुसाते हैं लड़के.. बस अब खुश..

मैं – एक बार और.. वह तुम्हारे मुंह से बहुत ही अच्छा लगा इसका नाम सुनकर..

टीना – अच्छा जी लो सुनो फिर लंड लंड लंड लंड.. बस जीजू अब खुश?

मैं – वैसे तुमने कभी देखा है लंड?

टीना – हां काफी बार..

मैं – कब और कैसे?

टीना – जब दीदी अपने बॉयफ्रेंड को घर में बुलाकर उनके लंड चूसती थी..

मैं – क्या तुम्हारी दीदी ऐसा भी करती थी?

टीना – हा जीजू उन्होंने आपको बताया नहीं?

मैं – नहीं तो..

टीना – दीदी भी बहुत हरामी हे, मुझे तो कहती थी कि मैंने शादी से पहले ही तेरे जीजू को सब कुछ बता दिया है..

मैं – टीना तु उसे छोड़ तु बता तूने लंड को कैसे देखा?

टीना – कह तो रही हूं जबी दीदी लंड चूसती थी तो मैंने काफी बार ऐसा करते पकड़ा  एक दिन मेरा दिल चूसने का किया तो दीदी ने खुद ही मुझे उसका लंड चूसने दिया..

मैं – मेरा लंड चूसेगी?

टीना – हां जीजु तभी तो मैं यहां आई हूं..

रात हो चुकी थी इसलिए मैंने एक सुनसान जगह पर कार रोक दी और पहले तो टीना को अपना लंड अच्छे से चूसवा कर उसका फेसीअल किया और बाद में उसे जमकर कार में चोदा.. चोदने के बाद मैंने उसे कह दिया कि मेरा एक दोस्त तुम्हें चोदना चाहता है, बोला क्या कहती हो..

टीना – जीजू अगर उसका लंड भी आप के लंड की तरह दमदार हुआ तो पक्का चुदुंगी.

चलो अब मेरा काम तो हो गया था, फिर हम दोनों घर आ गए और सारे रास्ते टीना ने मेरा लंड अपने मुंह में लेकर रखा.. घर आ कर सबसे पहले मैंने प्रवीण को यह खुशखबरी दी कि उसका काम हो गया है, उसकी सपनों की रानी चूदने के लिए मान गई है.

उधर से प्रवीण ने भी मुझे कह दिया भाई तेरे लिए भी एक खुशखबरी है आज मैं अपनी साली शीला को मूवी दिखाने ले गया था, और वही उसे अपना लंड अच्छे से चुसवा कर तुझसे चूदने के लिए मना लिया.. अब तू यह बता कल मिलना कब है? अपनी अपनी साली के साथ..

मैंने कुछ देर सोचने के बाद कहा कि मेरे ऑफिस का एक गेस्ट हाउस है जो कि मेरे अंडर है, कल हम चारों वहीं पर मिलते हैं. तू शीला को लेकर आ और मैं टीना को लेकर आता हूं.

जैसा कि हमने प्लान किया था ठीक है ११ बजे हम चारों गेस्ट हाउस में आ गए और आते ही हम चारों ने दो पैग दारू के लगाये, फिर मैंने टीना से कहा कि तुम्हें मेरा दोस्त प्रवीन दिलो जान से चाहता है, यह सुनते ही वह उठकर प्रवीण के साथ चिपक कर बैठ गई.

फिर प्रवीण ने शीला से कहा कि किशोर भी तुम्हें पागलों की तरह चाहता है, यह सुनते ही शिला वहां से उठकर मेरी गोद में बैठ गई, जिसे मेरा लंड उसके चूतड़ों पर लग रहा था, फिर क्या था? हम दोनों ने अपने अपने सालीयों के होंठों को चूसना शुरू कर दिया..

दोनों की दोनों पूरी जवान थी, सालीयों की फिगर भी बहुत ही कमाल की थी. हम दोनों ने उनकी कमर में हाथ डाला और दोनों को एक साथ बेड पर पटक दिया, फिर हम चारों पूरे नंगे हुए और फिर हम दोनों आपस में शर्त लगाई की देखते हैं कि सबसे पहले लंड चूसकर कौन पानी निकलता है?

ऐसा तो हम दोनों ने कभी नहीं सोचा था, उन दोनों ने हम दोनों को बेड पर खड़ा किया और दोनों नीचे घुटनों पर बैठ गई और १२३ स्टार्ट करते ही दोनों ने पागलों की तरह हम दोनों के लंड पर टूट पड़ी.. उन दोनों का लंड चूसना हम दोनों को पागल कर रहा था..

सच में हम दोनों अपने आप पर बहुत ही मुश्किल से कंट्रोल कर रहे थे, उन दोनों का कंपटीशन करीब २५ मिनट तक चला और सबसे पहले शीला ने मेरे लंड का पानी निकाला और सारा पानी अपने मुंह पर ही गिरवाया, उसके करीब २ मिनट बाद ही टीना ने भी प्रवीण के लंड का पानी निकाल दिया. उनका अच्छे से फेशियल हो चुका था, उसके बाद उन दोनों ने बारी बारी से एक दूसरे को मुंह को चाट चाट कर साफ किया, जिसे हम दोनों देखते ही रह गए..

उसके बाद हम दोनों ने एक दूसरे की साली को खूब जमकर चोदा और ना जाने कैसे कैसे चोदा.. उस दिन हम चारों ने सेक्स की करीब सारी पोजीशन बना ली थी. उस दिन हम दोनों ने पक्का कर लिया था इसी तरह हम दोनों अपनी अपनी वाइफ के साथ एक्सचेंज सेक्स करेंगे..

हम दोनों की बातें सुनकर कि हमारी सालीया बोली हम दोनों भी आपके साथ आएंगे और आपके मस्त लंड के एक बार फिर से मजे लेंगे, हम दोनों ने उनकी यह बात सुनते ही हंसते-हंसते संडे का प्लान बना लिया, जिसमें हम दोनों की वाइफ और सालिया होंगी..

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age


Online porn video at mobile phone