साली को अजनबी बन के पटाया चोदने के लिए

Click to this video!
loading...

ये किस्सा मेरे साथ कुछ दिन पहले हुआ था केरला के अंदर. ये बात मेरी साली के साथ हुई थी. मेरी साली भी मेरिड है लेकिन उसके अभी बच्चे नहीं है. मेरी जब शादी हुई थी तब वो काफी जवान एज की थी और इसलिए मेरे और उसके बिच में काफी फ्रेंक रिलेशन हो गई थी. और वो मेरे साथ एकदम खुल के बात भी करती थी. उसने मुझे अपनी शादी की सुहागरात की बातें भी बताई थी.

और उसकी बातों से मुझे पता चला की वो सेक्सुअली काफी एक्टिव थी और उसका हसबंड किसी काम का नहीं था. वो बहुत ही खुबसुरत थी और उसके लम्बे बाल थे. उसका फिगर 36 34 36 है. मैं भी उसकी तरफ अट्रेकट होने लगा था और उसके बारे में सोच के खुद को हल्का भी कर लेता था.

loading...

मैं उसे सेड्युस करने के बारे में सोचता था. और फिर मेरे दिमाग में उसके लिए एक आइडिया आया. काफी दिनों से वो फेसबुक और व्हाटसएप्प के ऊपर काफी एक्टिव थी. तो मैंने उसे फंसाने के लिए एक डुप्लीकेट फेसबुक आइडी बना ली.  पहले पहले तो उसने मेरे मेसेज के जवाब नहीं दिये. लेकिन मैं उसको इम्प्रेस करने के लिए मेसेज भेजता रहा.

loading...

मैं उसकी सुन्दरता की तारीफ़ करता था. और फिर आखिर एक दिन उसने मुझे जवाब में हल्लो लिख के भेजा. पहले पहले तो मैंने उसके साथ डिसेंट वाले मेसेज किये. और फिर हम दोनों की चेट पटरी के ऊपर चल पड़ी. मैं उसके साथ ऐसे बात करता था जैसे मैं उसके बारे में कुछ नहीं जानता था. उसने ही अपने बारे में मुझे बताना चालू किया. और फिर हम शादी और जिन्दगी के टोपिक्स भी डिसकस करने लगे. मैंने उसको पूछा की तुम्हारे बच्चे क्यूँ नहीं है? और उसने बताया की मेरे हसबंड को प्रॉब्लम हैं इसलिए.

और फिर मैंने धीरे से टोपिक को सेक्स की तरफ पलट दिया. उसका हसबंड उस से दूर काम करता हैं और हफ्ते में एकाद बार ही घर पर आता हैं. और वो अपनी आंटी के साथ अकेली ही रहती है. मैं ये बात जानता था इसलिए वो मेरा प्लस पॉइंट था.

उसने बोला की मैं अपने पति से खुश नहीं हूँ क्यूंकि वो मोटा और आलसी हैं और वो अपने संतोष जितना ही सेक्स करता हैं मेरे साथ में. मैंने उसको पूछा फिर तुम खुद को सटीसफाई कैसे करती हो? उसने कहा एडजस्ट करती हूँ और कोई ऑप्शन भी नहीं हैं इसलिए. मैं ये सब सुनने के बाद भी एकदम डिसेंट बना रहा उसके साथ और उसे सेक्स के लिए जरा भी नहीं कहा. और ऐसे मैंने उसका दिल जित लिया.

और फिर उसे पता भी नहीं था की मैं कौन हूँ. हमारी चेटिंग हफ्तों तक चली और वो मेरे से काफी क्लोज सी हो गई. अगर वो मुझे ऑनलाइन नहीं देखती थी तो मुझे काफी सारे ऑफलाइन मेसेज भी करती थी. और मैं कभी कभी जानबूझ के उसको वेट करवाता था. अब उसको मेरे ऊपर बहुत भरोसा हो गया था.

एक दिन मैंने उसको बोला की मुझे तुम बहुत पसंद हो और तुम्हारी सुन्दरता ने मुझे मोह सा लिया है. उसने कहा की तुमने कभी मुझे रियल में देखा नहीं फिर मैं कैसे पसंद आ गई? मैंने कहा फेसबुक के ऊपर तुम्हारे पिक्स तो देखे ही मैंने.

उसने मुझे कहा की मुझे भी तुम्हारी फोटो देखनी है. मैंने गूगल से एक फोटो ली जो बहुत अच्छी नहीं थी. और मैंने वो पिक उसे भेज दिया. उसने फोटो देखी लेकिन मुझे कुछ कहा नहीं. उसने बस इतना बोला की तुम स्मार्ट दीखते हो.

और फिर उसी शाम को जब मैंने गुड नाईट का मेसेज भेजा उसे तो साथ में किस और हार्ट भी भेज दिया. उसने भी स्माइली भेजी मुझे. अब मुझे लगा की आगे बढ़ा जा सकता हैं इसके साथ में.

करीब 3 हफ्ते की और रेगुलर चेटिंग के बाद मैंने टोपिक को पूरा सेक्स वाला कर दिया था. हमारी चेटिंग में हार्ट, किस, वगेरह भरा रहता था. एक दिन मैंने उसे पूछा की पता नहीं तुमको सीधे किस करने का कभी मौका मिलेगा क्या? वो बोली क्या तुम सिरियस हो? मैंने कहा हां एकदम सिरियस हूँ.

और फिर उसने मुझे कहा की ठीक हैं मैं मौका देख के बताती हूँ तुम को. और फिर मुझे एक पूरा हफ्ता वेट करना पड़ा. उसने फिर मुझे कहा की मेरी आंटी रात के 10 बजे सो जाती है उसके बाद में तुम मेरे घर पर आ सकते हो.

मैं तो जैसे आसमान के ऊपर था. लेकिन साथ में ये भी इश्यु था की अब मैं अपनी साली के सामने जाऊँगा कैसे! क्यूंकि वो तो मुझे ओई और ही समझती थी! वो जानती नही थी की वो उसका जीजा ही था जिसके साथ वो सेक्स चेट करने लगी थी.

लेकिन सब कुछ होने के बाद भी उसको चोदने की इच्छा को मैं दबा नहीं सका. आखिर उसके लिए तो इतने वक्त से इतनी महनत कर रहा था. इसलिए मैंने उसको कहा की मैं रात को 10 बजे के बाद आऊंगा उसके घर पर.

साथ में मैंने उसको बोला की घर के अन्दर की और बहार की सब लाईट को बंद कर देना और मैं अपने मोबाइल के उजाले से आ जाऊँगा घर में. उसने पूछा ऐसे क्यूँ? मैंने कहा इतने सब लोग होते हैं क्यूंकि तुम्हारा घर मेन रोड पर ही है. इसलिए मैं कोई चांस नहीं लेना चाहता हूँ. उसने कहा ठीक है.

अगले दिन मैं रात को 10 बज के 7 मिनिट पर उसके घर पहुंचा. मैं पहले भी वहां गया था इसलिए मुझे सब पता ही था. मैं खुश भी था और थोडा टेन्स भी. मैंने उसको मिस कॉल दिया और वो मेन डोर को खोल के चली गई. मैं अन्दर घुसा, घर एम् भी बहार के जैसे ही अँधेरा था. मैंने दरवाजे को बंद किया. अँधेरे की वजह से वो मुझे पहचान नहीं पाई. मैं भी पहचान तो नहीं पाया लेकिन मुझे पता था की वो वही है.

एक खिड़की से बहार रोड की स्ट्रीट लाईट का थोडा उजाला था जिस से हमारे आकर एक दुसरे को दिख रहे थे. उसने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे अपने बेडरूम में ले गई. वहां का एसी ओन था. उसने मुझे धीरे से पूछा की किसी ने देखा तो नहीं. मैंने स्लोव आवाज में कहा नहीं. उसने तब पहली बार मेरी आवाज सुनी. लेकिन वो खुसपुस वाली आवाज थी इसलिए उसने पहचाना नहीं मुझे. मैंने उसे हग कर के अपनी तरफ खिंच लिया. वो तेज साँसे ले रही थी. मैंने उसके होंठो को अपने होंठो से टच कर लिया.

उसने धीरे से अपना मुहं खोला और हम दोनों एकदम जोर से एक दुसरे को चिपक गए. हम दोनों की जबान और होंठ मिले हुए थे. मैंने अपने हाथ को पहले उसके माथे पर और फिर उसके बूब्स के ऊपर फेर दिया. उसने मुझे एकदम कस के अपनी बाहों में दबा दिया. हमने पांच मिनिट तक ऐसे ही किस की एक दुसरे को.

अब उसने मुझे ढीला छोड़ दिया. मैंने उसके करीब हो के उसकी आँखों के ऊपर एक किस दे दी और फिर उसने होंठ पर भी. और उसे आई लव यु कहा. मेरी आवाज सुन के वो एकदम पथ्थर सी हो गई और पीछे हट गई.

और फिर उसने आगे बढ़ के धीरे से नाईट लेम्प को जला दिया. और मुझे देखते ही उसने अपने मुहं को हाथ से ढंक लिया और दिवार के सहारे खड़ी हो गई. मैं उसके पास गया और उसके हाथ को अपने हाथ में ले के कहा, घबराओ नहीं कुछ गलत नहीं है

उसने मुझसे कहा आप ने मेरे साथ ऐसे क्यूँ किया?

मैंने कहा तुम्हारी मदद करने के लिए!

वो बोली, नहीं.

मैंने कहा हाँ मैं कौन हूँ उस से क्या फर्क पड़ता हैं, अगर बत्ती नहीं जलती तो मैं जो था वही अभी भी हूँ ये सोच के चलो.

वो मेरी आँखोंमें देख रही थी. मैंने उसको पकड के स्मूच कर लिया. उसने अपनी आँखे बंद कर दी. एक मिनिट में वो रिलेक्स हो गई और मुझे हग कर के चूमने लगी. मैंने अब उसे अपने हाथो में उठाया और उसको बेड पर लिटा दिया. उसने एक नाईट गाउन पहना था जिसमे ब्रा नहीं थी. मैं भी उसकी बगल में लेट गया. हमने फिर से एक दुसरे को किस किया. और बिच में मैंने उसके गाउन को निचे खिंच दिया और उसकी गांड को हलके से रब करने लगा. मैंने उसके चहरे के ऊपर सब जगह किस कर ली.

फिर मैंने उसे गाउन खोलने के लिए कहा. गाउन के हटते ही उसके मेंगो के शेप के मस्त बूब्स मेरे सामने आ गए. मैं इन बूब्स के लिए कब से वेट कर रहा था. अपने हाथ में दोनों को भर के मैने हलके से दबाया और फिर एक के ऊपर हलके से चुम्मी दे दी.

वो कराह उठी और प्यार से मेरे माथे में हाथ फेर दिया. मैं अब खुद के ऊपर कंट्रोल नहीं कर पा रहा था. मैं उसके बूब्स को और वो मेरे माथे को चूमने लगी. और फिर वो मेरे बालों में प्यार से हाथ घुमा रही थी.

अब मैंने खड़े हो के अपने कपडे निकाल दिए और वापस मेरी साली की बगल में लेट गया.

फिर से उसने मुझे लिप किस दे दी. हम दोनों के बदन जैसे पिगल रहे थे सेक्स की खुमारी से. मैंने उसके लेग्स को खोला और उसकी चूत को ऊँगली से सहलाने लगा. वो काफी गीली हो चुकी थी और मैंने उसके क्लाइटोरिस को ऊँगली से हिलाया.

मैंने जितना हिलाया वो उतने ही जोर से मुझे किस कर रही थी. करीब 2 मिनिट के बाद मैंने उसके दोनों बूब्स को किस किया और उन्हें मसला भी. फिर मैं उसके पेट के ऊपर हलके हलके चुम्मे देते हुए उसकी चूत की तरफ चला गया. वो काफी हॉट थी. मैंने अब उसके लेग्स को और चूत के ऊपर चुम्मा ले लिया. और फिर उसको बिना कुछ करने का मौका दिए हुए मैं उसकी चूत को चाटने लगा. मैंने उसके छेद में अपनी जबान को घुसा दिया था और चाट रहा था.

उसने मेरे माथे को पकड लिया और बोली बास करो अब मेरे से बर्दाशत नहीं हो रहा हैं. लेकिन मैं अभी भी चाटता रहा उसकी चूत को. लेकिन अब चूसन के साथ साथ मैंने अपनी एक ऊँगली से उसकी चूत को फक करना भी चालु कर दिया था. दो मिनिट में ही वो झटका खा के मेरे से लिपट गई. मैं उठा और उसको आराम से लिटा दिया. उसने थोडा रिलेक्स किया और मुझे किस करने लगी. और फिर वो मेरे ऊपर आ गई और मेरे नाक के ऊपर किस करते हुए निचे गई और मेरे निपल्स को प्यार से चूमने लगी.

वो उत्तेजना कितनी मादक थी वो मैं आप को शब्दों में नहीं बता सकता हूँ! और फिर उसने मेरे लंड को अपने हाथ में ले के मसला और फिर उसके ऊपर किस कर ली और उसे अपने मुहं में ले लिया. मैं भी गिला हो गया था और मेरे लंड के आगे से प्रीकम निकल पड़ा था. उसने मेरे लंड के ऊपर सब तरफ अपनी जबान को घिस दिया और फिर मुझे मस्त चूसने लगी. मैं तो जैसे जन्नत के अन्दर था! और फिर उसने मेरे सुपाडे के ऊपर की चमड़ी को हटाया और उसे भी चाट लिया. उसने पांच मिनिट तक मेरे लंड को चूसा और मैं उसके मुहं में ही झड़ गया!

जब मैं उसके मुहं में झड गया तो उसने सब का सब निगल लिया. सच में दोस्तों वो फिलिंग कैसी मस्त थी! फिर हम दोनों उठ के रेस्ट रूम में गए और एक दुसरे को क्लीन किया. वहां मैंने उसको कहा की सोरी मई मुहं में ही झड़ गया उसके लिए. वो बोली तो मेरा भी तो आप के मुहं में ही निकला था जीजू. मैं बड़ा खुश हुआ. हम वापस कमरे में आ गए और एक दुसरे को हग कर के लेट गए बिस्तर के अन्दर. और फिर से चूमना और एक दुसरे को टच करना चालू हो गया. मैंने उसे कहा अब तुम मेरी गोदी में आ जाओ और मेरे ऊपर चढ़ जाओ,

उसने मुझे पकड़ा और मेरे ऊपर आ गई. उसने अपने हाथ से ही मेरे लंड को पकड के सही जगह पर लगाया और फिर धीरे से उसके ऊपर बैठ गई. बड़े ही मख्खन के जैसे मेरा लंड उसके अंदर जा घुसा. और फिर वो मेरे लंड की सवारी करते हुए ऊपर निचे होने लगी उसके बूब्स मस्त उछल रहे थे हवा में.

मैंने दोनों बूब्स को पकड के निपल्स को दबाई. और वो जोर जोर से उछलने लगी. मेरे दोनों हाथ उसकी गांड पर थे और मैंने चूतडो को दबा के उसे कूदने में मदद की. वो पांच मिनिट तक मेरे लंड की सवरी करती रही. और फिर मैं उसे डौगी स्टाइल के लिए कहा.

उसके लिए डौगी स्टाइल नया अनुभव था. मैंने उसे बिस्तर के ऊपर झुकाया और मेरे लंड को पीछे से उसके बुर के ढक्कन पर घिसने लगा. मैंने जैसे ही लंड घुसाया वो थोडा घबरा रही थी क्यूंकि आज पहली बार वो इस पोज में लंड ले रही थी.

और जैसे ही लंड पूरा अन्दर गया वो हलके से अपनी गांड हिलाने लगी. मैंने भी लंड को एकदम स्लोली अन्दर बहार किया. और मेरे शॉट्स चालु हो गए अब. मैंने धीरे धीरे कर के अपनी स्पीड को बढ़ा दिया और 10 मिनिट तक उसे मजे से चोदता रहा.

उसके बाद हमने फिर से पोज बदला. अब मैंने उसके ऊपर चढ़ के मिशनरी पोज में उसे चोदने लगा. मैंने उसकी दोनों टांगो को ऊपर ले लिया अब और जोर जोर से पूरा लंड उसकी चूत में घुसा रहा था. मेरा लंड मजे से उसकी चूत को खुरेद रहा था. और वो भी अह्ह्ह अह्ह्ह यस्स अह्ह्ह्ह कम ओन फक मी अहह्ह्ह्हा ह्ह्ह्ह य़ा कर रही थी

मेरे शॉट्स की स्पीड और उत्तेजना दोनों ही बढ़ गई थी. उसने तब मुझे और जोर से चोदने के लिए कहा क्यूंकि वो झड़ने की कगार पर थी. और ये सुनके मैं उसे कस कस के पेलने लगा. वो मेरे लंड के ऊपर ही झड़ गई जिसका गर्म गर्म अहसास मुझे हुआ. मैंने धीरे से अपना लंड उसकी चूत से निकाला और उसके पास लेट गया.  हम दोनों एक दुसरे की आँखों में झाँक रहे थे. और फिर हम दोनों ने बाथरूम में जा के नाहा लिया.

तब तक रात के 12 बज चुके थे. फिर बिस्तर में जा के मैंने उसके साथ करीब एक घंटा और बातें की. और फिर उसका मूड बना तो एक राउंड और सेक्स किया हम दोनों ने. ये राउंड करीब आधे घंटे तक चला और उसने खूब मजे लिए.

जब मैं उसे छोड़ के निकला तो उसने कहा, जीजू आप को क्या लगता हैं मैं प्रेग्नेंट हो जाउंगी?

मैंने कहा मुझे तेरी दीदी की कसम हैं अगर आज से एक साल में तेरी गोद में अपना बच्चा ना दे दूँ तो!

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age


Online porn video at mobile phone