पायल की चूत बजाई

Click to this video!
loading...

हेलो दोस्तों, मेरा नाम राज है, मेरी उम्र ३७ साल है और मैं अपनी बीवी के साथ गुडगांव में रहता हूं, मैं फिर से आपके लिए एक मस्त कहानी लेकर पेश हुआ हूं. जरा गौर फरमाइएगा.

दोस्तों यह कहानी मेरी और मेरी फ्रेंड पायल के बीच की है जिसमें मैंने उसे चोद डाला.

loading...

दोस्तों मैंने आपको पहले भी अपने बारे में बताया था कि मैं अपनी बीवी के साथ गुडगांव में रहता हूं और मेरी सेक्स की प्यास मेरी बीवी से बुज नहीं पाती इसलिए मैं अपने दोस्त साथ मिल कर कभी किसी लड़की को घर ले आ कर चोदते तो कभी बाहर कॉल गर्ल के साथ सेक्स करते, मुझे इस में बहुत मजा आता था, मेरा एक दोस्त देवेंदर जो की फॉरेन में सेल्समैन की ड्यूटी करता था, वह एक हफ्ते में अक्सर तीन चार दिन बाहर ही रहता था इसलिए मैं उसे बहुत कम मिल पाता था.

loading...

तो मेरी जिंदगी में पायल मेरे उसी दोस्त की वजह से आई थी जिसको मैंने चोद डाला जो कि आपको मेरी आगे की कहानी में पता चलेगा.

पायल मेरे दोस्त को बस में मिली थी. जो उसके साथ वाली सीट पर बैठी थी, पायल दिखने में बहुत सुंदर थी और पतली दुबली थोड़े बड़े बड़े बूब वाली थी. लंबा सफर था और दोनों ने एक ही जगह जाना था इसलिए वह एक दूसरे के साथ बातें करते हुए आए. और अंधेरा होने की वजह से मेरे दोस्त ने उसे सही सलामत उस के घर तक पहुंचा दिया और फिर वह अपने घर आ गया.

अगले दिन उसने मुझे बताया कि बस में मुझे एक लड़की मिली है जीसका नाम पायल है और वो तेरी गर्लफ्रेंड जैसी लगती है.

मैं उसकी यह बात सुनी तो उसको मिलने की इच्छा होने लगी और मैंने अपने दोस्त को पायल से मिलवाने को कहा और जिद करने लग गया.

देवेंद्र ने उसका फोन नंबर भी ले लिया था इसलिए अब उसने पायल को फोन मिलाया और उस से मिलने की बात की, पायल ने अगले दिन शाम को मिलने का प्लान बनाया. उस रात मुझे एक पल भी नींद नहीं आई और मेरा सारा दिमाग उस के ख्यालों में खो रहा था. सुबह होते ही मैं और देवेंदर उसे मिलने ज्यूस केफे चले गए और पायल के आने का इंतजार करने लगे.

पायल जैसी ही हमारे पास आई और हेलो की, तो मैंने हेंडशेक करते हुए उसे भी जवाब दिया और उसे देखता ही रह गया, क्योंकि वह इतनी सुंदर थी और उस की शक्ल बिल्कुल मेरी एक्स गर्लफ्रेंड से मिलती थी. हम दोनों बातें करने लगे और मस्ती मजाक करते हुए एक दूसरे के नंबर ले लिए और फिर हम वहां से निकल पड़े.

मैंने उसी दिन घर आकर उसे फोन किया और फोन पर बातें मारने के बाद मूवी देखने का प्लान बनाया और उसने भी मेरे साथ चलने के लिए हां कह दिया. हमने मूवी देखी और बर्गर खाया. हम एक दूसरे के साथ बातें मार रहे थे. फिर मैंने उसे एक दिन उसे घर पर बुलाया.

पायल ने मुझे हां कहा और अगले दिन मेरे घर आ गई. पायल ने घर के बाहर खड़े होकर बेल बजाई तो मैं दरवाजा खोलने गया. और दरवाजा खोला तो मैं पायल को देखता ही रह गया.

पायल ने जींस और उपर सेक्सी टॉप डाली हुई थी, कानों में बड़े बड़े झुमके, पैरों में हाय पेंसिल हिल, होठों पर पिंक कलर की लिपस्टिक. ये सब देख कर मैं हैरान रह गया और मेरी आंखें मानो फटी की फटी रह गई. अब मैंने उसे अंदर आने को कहा और वह अंदर आकर सोफे पर बैठ गई. मैंने उसे आने के बारे में पूछा कि कोई तकलीफ तो नहीं हुई? तो वह बोली नहीं आराम से मिल गया आपका एड्रेस.

अब मैंने उसे चाय कॉफी के लिए पूछा तो उसने पीने के लिए मना कर दिया. मैंने उसे अब बीयर पीने के लिए कहा तो उसने हां कर दिया. अब मैं रुम में जाकर बियर और स्नेक्स की अरेंजमेंट करने लग गया. ५ मिनट बाद मेने पायल से पास जा कर उस को अंदर आने को कहा पायल अंदर आई और बेड पर एक तरफ हो कर बैठ गई. मैंने बीयर खोल कर ड्रिंक गिलास में डाल दिया और ड्रिंक ऑफर की.

ड्रिंक ऑफर करते ही उसने ग्लास अपने हाथ में ले लिया और मैंने शेक करते हुए उसे पीने के लिए इशारा किया पर तभी उसने मुझे कहा राज मेरी जींस टाइट है, ठीक से बैठा तक नहीं जा रहा.

मैंने उसे जींस उतारने को कहा पर उसने मना कर दिया, फिर मैंने थोड़ी जबरदस्ती के साथ उसकी जींस उतरवा दी और वह पिंक पेंटि में मेरे आगे बैठी थी, ड्रिंक की चुस्कियां लेने लगी. मैं उसकी चिकनी गोरी गोरी पतली टांगों को निहारता रहा और अपनि ड्रिंक भी पि गया. हम बातें करते करते एक बोतल पी गए और मैं अब दूसरी बोतल खोलने लगा तो मुझे पायल ने रोक दिया, पर मैंने उसे कहा थोड़ा थोड़ा और हो जाए, तो वह मान गई.

अब हमने ऐसे ही दूसरी बोतल भी खत्म कर दी और सब साइड में रख कर पायल के पास बैठ कर उस के जिस्म पर हाथ फेरने लगा.

पायल ने कहा – यह क्या कर रहे हो?

मैंने कहा – मौके का फायदा उठा रहा हूं

यह कहते ही मैंने उसके जिस्म पर हाथ फेरने लगा और धीरे धीरे कभी उसके मुंह पर उंगलियों से हाथ फेरता कभी गर्दन पर हाथ फेरता. फिर वह अपनी आंखें बंद कर के मेरी बाहों में गिर गई, मैं उस के टी शर्ट के ऊपर से उस के बूब्स को दबाने लगा.

उस के बूब्स एकदम खड़े हुए थे और सॉफ्ट थे, मैं उसके बूब दबाता रहा और वह आंखें बंद कर के मजे लेती रही, मैंने धीरे से अपना हात टी शर्ट के अंदर डाल कर पायल के बूब को उसकी पिंक ब्रा के ऊपर से दबाने लग गया, और उस के निपल को भी ऊपर से ही मसलने लग गया, जिससे पायल लंबी लंबी सिसकियां भरने लगी थी.

अब मैंने उसकी टी शर्ट को हाथ में लिया और उतारने लगा तभी पायल बोली यह क्या कर रहे हो? मुझे डर लगता है.

मेने कहा – इस में डरने वाली क्या बात है? कुछ नहीं होगा, मैं हूं तुम्हारे साथ.

पायल ने कहा – नहीं, इसे प्लीज मत उतारो.

मैंने कहा – पागल कुछ नहीं होता. मैंने जबरदस्ती उसकी टी शर्ट उतार दी.

उस को बेड पर लेटा कर बाहर का मेन दरवाजा लॉक कर आया और उस के सामने अपने कपड़े उतार कर सिर्फ जॉकी में उस के पास आ गया. मैं उस के चिकने गोरे गोरे बदन को निहारता रहा और अब उस के ऊपर थोड़ा बैठ कर उस को अपनी जीभ से चाटने लग गया.

मैं अब उस के ऊपर आकर लेट गया और अपनी टांगो को उसकी टांगों में फंसा कर लोक कर दिया, और अपने उबलते हुए होठ को उसके गुलाबी नर्म नर्म होठों पर रख कर चूसने लग गया.

पायल मदहोशी की हालत में आवाज करने लगी और मुझे कस कर पकड़ लिया मैंने भी उसे कुस कर जकड लिया और अब अपना हाथ उसकी चूत के ऊपर ले जा कर उस की गरम गरम चूत को छेड़ने लग गया, मेरे छेड़ने से उसके अंदर मस्ती छा रही थी. फिर मैंने उस की पैंटी में हाथ डाल कर उसकी क्लीन शेव सॉफ्ट चूत पर अपनी उंगलियां रगड़ना शुरू कर दिया.

अब मैंने धीरे से रगड़ते हुए उस की पैंटी को उतारने लगा.

तभी पायल बोली – यह क्या कर रहे हो? प्लीज़ यह मत उतारो.

मैंने कहा – इस में डरने की क्या बात है, हम कुछ नहीं करेंगे, बस एक दूसरे को बाहों में लेकर प्यार करेंगे.

पायल ने कहा – नहीं, प्लीज मत उतारो.

अब फिर से थोड़ी जबरदस्ती करी और उसकी पैंटी उतार दी, अब में उस के ऊपर आ कर लेट गया उस की ब्रा भी खोल कर रख दी.

अब मेरे लंड से उसके जिस्म की गर्मी देख कर बर्दाश्त नहीं हो रहा था, मेरा लंड  तन कर खड़ा हो गया था, और अब मैंने अपना लंड अपनी जोकि से निकाल कर उस की टांगों के बीच में रख दिया.

मैंने पायल को अपनी बाहों में कस लिया, जिस से वह मेरे साथ चिपक गई. अब लंड पूरी तरह से खड़ा हो चुका था और पायल की चिकनी चूत के आस पास लग रहा था. अब मैंने अपने हाथ नीचे किया और पायल की चिकनी टांगो को रगड़ते हुए उस की चिकनी चूत पर पहुंच गया और अब मस्ती में उस की चिकनी चूत को सहला रहा था और उस की चूत के दाने को भी रगड़ रहा था.

मैंने अपने लंड को अपने हाथ में पकड़ा और पायल की चूत के दाने पर रगड़ने लग गया, अब मैंने अपने लंड को उसकी चूत में डालने ही वाला था, इतने में पायल ने मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ लिया और फिर से अपनी चूत के दाने पर रगड़ने लगी कुछ ही देर में उसकी चूत से चिकना पानी निकलने लग गया.

पायल को यह सब करना बहुत अच्छा लग रहा था. पायल मेरे लंड को लगा तार अपनी चूत पर रगड़ रही थी, अब मुझे कंट्रोल नहीं हो रहा था. इसलिए मैंने उस का हाथ पकड़ लिया और बोला पायल अब कुछ करें क्या यार मेरा बहुत मन कर रहा है?

पायल कुछ भी नहीं बोली.

उसके मुंह से सिर्फ मस्ती से भरी सिसकियां आह्ह औऊ यस्स अह्ह्ह अय्य्य ई औउ ओऊ पज्ज ओई ईह्ह मम्म ई औउस यस निकल रही थी और वह बोली राज प्लीज तुम ऐसे ही करते रहो मुझे बहुत अच्छा लग रहा है.

मेरा लंड पूरा खड़ा हो चुका था, वह पायल की चुत में घुसने को तैयार था, पायल की चूत में से उसकी चूत का पानी निकल रहा था, अब मैंने अपना लंड अपने हाथ में पकड़ा और पायल की चूत में अपना लंड डालने लगा.

तभी पायल ने मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ लिया और बोली प्लीज राजू कंडोम यूज कर लो, मुझे बहुत डर लगता है प्लीज.

मैं उठा और कॉन्डोम निकाला और अपने लंड पर कंडोम लगाने लगा, यह सब पायल बड़े ध्यान से देख रही थी. कंडोम लगा कर मैं फिर से पायल के ऊपर आ गया और उस का नंगा जिसम मेरे जिस्म के नीचे दब गया.

अब मैंने अपने तड़पते हुए होंठ पायल के गुलाबी और नरम नरम होंठों पर रख दिए और उस को किस करने लगा, अब पायल ने भी मुझे अपनी बाहों में भर लिया, मेरा लंड पायल के पैरों के बीच में फंसा हुआ था.

मैंने अपने लंड को उसकी चूत के मुह पर लगाया और एक जोर दार धक्का मार दिया मेरा लंड पायल की चूत में उतर चुका था, पायल के मुंह से आह औऊ ईई औऔउ इमा माआअ निकली और उस ने अपनी आंखें बंद कर दी.

मैंने थोड़ा सा और जोर लगा कर धक्का मारा तो मेरा आधा लंड पायल की चूत  में चला गया और पायल के मुंह से तेज तेज और जोर जोर से सिसकियां निकलनी शुरू हो गई, अब मेने और एक ज़टका लगाया तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया. अब मैं उस के रसीले होंठों को लगातार चूसता जा रहा था, जिस से वह अपना दर्द भूल जाए.

मेरा पूरा लंड उस की चूत के अंदर तक गया हुआ था, पायल और मैं एक दूसरे से चिपके हुए थे. पायल का नंगा जिसम मेरी जिस्म के नीचे दबा हुआ था. मैं उस को लगा तार किस कर रहा था. अब तो पायल भी मेरा साथ देते हुए मुझे किस कर रही थी.

कुछ देर तक हमारा चुम्मा चाटी का प्रोग्राम ऐसे ही चलता रहा, फिर मैंने अपना लंड  पायल की चूत में से थोड़ा सा निकाला और धीरे से फिर से उसकी चूत में डाल दिया अब मैं धीरे धीरे उस की चूत में लंड को अंदर बाहर कर रहा था.

कुछ ही देर में पायल ने अपनी टांगे ऊपर कर ली और मेरे कमर पर लपेट ली, मुझे यह सब बहुत अच्छा लग रहा था. अब मेरा पूरा लंड पायल की चूत में जा रहा था.

मैं और पायल बियर के नशे में सेक्स कर रहे थे, इस वजह से सेक्स करने का मजा और भी ज्यादा आ रहा था. पायल भी सेक्स के नशे में चूर हो रही थी और बुरी मस्त हो कर अपनी चूत की चुदाई करवा रही थी.

अब मैंने बेड पर अपने हाथ रख लिए और थोड़ा सा झुक कर जम कर अपना लंड  पायल की चूत में जोर जोर से अंदर बाहर करने लगा, पायल की चूत में से चिकना पानी निकल रहा था, इसलिए मेरा लंड बड़ी आसानी से उसकी चूत में जा रहा था.

मैं पायल के ऊपर कूद कूद कर उसकी चुदाई कर रहा था, अब मैं रुक गया और पायल से पूछा – पायल मेरी जान कैसा लग रहा है?

पायल ने कहा – राज, प्लीज तुम रुको मत जोर जोर से करते रहो.

उसकी यह बात सुनते ही मैंने अपनी स्पीड तेज कर दी और पायल के दोनों चूतड़ अपने हाथ में पकड़ कर छोटे छोटे पर जबरदस्त धक्के मारने लग गया.

पायल के मुंह से मस्ती भरी आवाजे निकल रही थी, आह्ह औऊ ओह्ह हां हौऔ इओह हां एयस हाहाह उस अग्ग अम्म ओग्ग हहह यस स्गाग ओह्ह औउअ यस्स मेरे राज और जोर से करो.

अब मैं पायल के ऊपर लेट गया और पायल को अपनी बाहों में भर लिया और अपने तड़पते हुए होठ पायल के गुलाबी और नरम नरम होंठों पर रख दिए और उस के गुलाबी होठों का रस पीने लगा, पायल भी अब अपने होंठ मस्ती में चुसवा चुसवा  कर अपनी चुदाई के मजे ले रही थी.

करीब ५ मिनट तक हम दोनों ऐसे ही एक दूसरे को चुसते रहे और चुदाई का मजा लेते रहे.

तभी अचानक पायल ने मुझे अपने बाहों में जकड़ लिया और अपने होंठ मेरे होंठों से निकालते हुए जोर जोर से सिसकियां भरने लगी और उस का सारा शरीर ढीला हो गया. मैं समझ गया कि पायल का काम हो चुका है, अब मेरा भी लंड जवाब देने वाला था इसलिए मैंने स्पीड और तेज कर दी और पागलों की तरह पायल की चुदाई करने लगा.

पायल का शरीर पूरा शरीर मेरे धक्कों से हील रहा था और पायल अपनी आंखें बंद कर के मेरे लंड का पानी निकलने का इंतजार कर रही थी, करीब २ मिनट की जबरदस्त चुदाई के बाद मेरे लंड ने जवाब दे दिया और सारा पानी कंडोम के अंदर ही निकाल दिया.

अब कुछ देर में पायल के नंगे जिस्म के ऊपर ही लेटा रहा और अपनी तेज चलती सांसो को कंट्रोल करने लग गया, वो अपनी दोनों आंखें बंद कर के मेरे नीचे लेटी रही. करीब ५ मिनट बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया.

फिर उठ कर मैंने अपने लंड से कंडोम उतारा और डस्टबिन में फेंक दिया और फिर एक कपड़े से अपना लंड साफ कर के मैं पायल के पास लेट गया, पायल की आंखें अभी भी बंद थी और कमरे की धीमी रोशनी में पायल का गोरा और नंगा बदन शीशे की तरह चमक रहा था.

कुछ देर बाद पायल ने मेरी तरफ करवट ली और अपनी एक टांग मेरे ऊपर रख ली और मेरी आंखों में अपनी आंखें डाल कर बोली – बस हो गई राज तुम्हारे मन की?

मैंने कहा हां मेरी जान मुझे आज बहुत मजा आया.

यह कह कर मैंने पायल को अपनी बाहों में ले लिया और ऐसे ही कुछ देर हम ऐसे ही एक दूसरे की बाहों में लेटे रहे और आपस में बातें करते रहे.

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age


Online porn video at mobile phone