मेरिड कामवाली रश्मि की चुदाई

Click to this video!
loading...

मेरा नाम अमित है और मैं आज की इस कहानी में आप को बताऊंगा की कैसे मेरी नोकरानी ने मुझे सेड्युस कर के मेरा मुठ मार देती थी और मुझे सेक्स के बारे में सिखाया उसने. अब आगे की कहानी बताने से पहले मैं अपने बारे में बता दूँ. मेरा एज अभी 24 साल हुआ हे और मेरी हाईट 5 फिट 11 इंच है. मेरे लंड का साइज़ 7 इंच हे. ये जूठ नहीं है.

रश्मि की शादी को दो साल हो गया था और वो अपनी ससुराल चली गई थी. मैं कब तक सेक्स के बारे में सिख गया था बट किसी से सेक्स नहीं किया था. मुठ मार के ही काम चलाता था बस. सेक्स करने का मन तो बहुत होता था पर मौका नहीं मिला. दिल करता था की रश्मि काश वापस आ जाए.

loading...

उसकी नाम का हर रोज मुठ मारता था. फिर एक दिन ऊपर वाले ने जैसे मेरी सुन ली. गर्मी का मौसम था. मेरा छुट्टी था तो एक दिन सुबह को डोर बेल बजी. मैंने दरवाजा खोला तो शॉक हो गया.

loading...

एक मस्त पटाखा सी लड़की ब्लेक कलर की साडी पहन के कड़ी थी. बूब्स इतने बड़े थे की मानो अभी ब्लाऊज को फाड़ के बहार आ जायेंगे. उसके बाल काफी लम्बे थे जो उसने आगे किये हुए थे. मैं तो उसकी फिगर देखने में ही मस्त था.

अचानक होश आया जब मुझे याद आया की ये तो रश्मि ही है! शादी के इतने दिनों में वो काफी बदल सी गई थी. मुझे देख कर रश्मि बोली, क्या हुआ छोटे बाबु? इतना क्या देख रहे हो? मुझे पहचाना नहीं क्या?

मैं बोला अरे रश्मि दी तुम!!! आओ अन्दर आओ.

वो अन्दर आई और फिर मम्मी आके उसके साथ बात करने लगी. मेरा तो खुसी का जैसे ठिकाना ही नहीं था. मैं तो उसकी गांड ही देखता रह गया. शादी के बाद वो काफी भर गई थी और उसकी गांड और बूब्स काफी बड़े हो चुके थे.

उसका पति सच में उसको बहुत ही चोदता होगा. साले ने आगे पीछे सब फुला के रख दिया था. अब तो रश्मि की भरी हुई जवानी को चोदने में और भी मजा आएगा.

फिर रश्मि चली गई. मम्मी ने बताया की वो फिर से हमारे घर में काम करेगी. उसका पति का रोजगार उतना अच्छा नहीं है इसलिए वो फिर से काम करना चाहती थी. अभी वो अपने मइके में ही रहनेवाली थी और उसका पति भी यहाँ मजदूरी देखने वाला था.

मेरे तो मन में एकदम से लड्डू फूटने लगे थे. मस्ती में मैंने उस दिन कुछ ज्याद्सा ही मुठ मार दिया. फिर अगले दिन से वो काम करने आ गई. साड़ी पहन के आई थी वो. ऐसी माल लग रही थी की कोई नहीं बोलेगा की वो एक कामवाली है.

उसकी फिगर 34 30 36 के करीब हो गया था. मुझे देखर कर रश्मि स्माइल करने लगी और केजुअली बातें करने लगी. क्यूंकि मम्मी थी घर पर इसलिए वो उतनी खुली नहीं. मेरा पढ़ाई वगेरह के बारे में पूछा उसने और स्माइल करने लगी.  लेकिन मैं जानता था की उसके भी इरादे कुछ और ही थे. मैं रश्मि को चोदने का मौका खोज रहा था जो मुझे मिल नहीं रहा था.

फिर गर्मी की छुट्टियाँ खतम हो गई और मम्मी की स्कुल और पापा की ऑफिस का काम चालू हो गया. अब तो घर पर मेरे ही राज था. घर पूरा खाली होने के बाद मैं टीवी देखता रहा और अचानक बेल बजी.

दरवाजा खोला तो रश्मि थी. मैं भी बहुत खुश हुआ. पसीने की वजह से उसकी ब्लाउज भीग गई थी. और उसकी बॉडी से एक अजीब सी मादक खुसबू आ रही थी.

मैं तो बस यही प्लान में था की कब चोदुं. लेकिन सीधे अप्रोच करने की हिम्मत भी नहीं थी. रश्मि अपना काम करने लगी. वो झाड़ू लगा रही थी. झाड़ू लगाते वक्त उसकी पल्लू बार बार निचे गिर रही थी. रश्मि की मस्त गोल मटोल बूब्स का क्लीवेज भी दिख रहा था.

उसने मुझे बूब्स देखते हुए पकड़ लिया और हंस के बोली किया देख रहे हो छोटे बाबु? पहले भी तो देखे हो ना.

मैंने शर्मा के बोला पहले इतने बड़े नहीं थे!

तो वो बोली तुम्हारा भी तो पहले छोटा था. अब कितना बड़ा हुआ?

ये सुनके मैं तो चौंक गया. और मैंने सोचा अब तो ये जरुर चुदेगी मेरे से.

मैं बोला पता नहीं तुम ही देख लो.

रश्मि बोली, हट पगले अभी तो मैं शादीसुदा हूँ ना ऐसा करना ठीक नहीं होगा.

और ये कह के वो अपना काम करने लगी.

मेरा तो दील ही जैसे बैठ गया ये सुनकर. दोपहर को जब नहाने का ताउम आया तो मैं अपने बॉडी में आयल से मालिश करने लगा. उसके बाद में नहाने जाने का प्लान था. आयल मालिश के वक्त मेरा हाथ पीठ तक नहीं पहुँच रहा था.

तो ये देख कर रश्मि बोली मैं कुछ मदद कर दूँ?

मैंने भी हां कर दिया. मैं एक तोवेल में था और रश्मि मेरे पीठ पर मालिश करने लगी. और वो बोली तुम्हारा शरीर तो काफी मजबूत हो गया हे छोटे बाबु! सच में तुम अब बड़े हो गए हो.

पीठ के बाद वो मेरी छाती पर तेल लगाने लगी. उसकी टच से मेराओल्ड फिलिंग वापस आ गया और मेरा लंड धीरे धीरे खड़ा होने लगा. रश्मि निचे बैठ कर मेरे लेग्स की मालिश करने लगी. उसका पल्लू भी गिर गया था पर उसने उठाया नहीं उसे. उसके बड़े रसीले बूब्स का बड़ा हिस्सा मुझे दिखने लगा था.

मेरा लंड कुछ ही पलों में फुल तन गया. रश्मि के मुह के सामने मेरा लंड तोवेल में था जो टेंट बना रहा था. ये देख कर वो मुस्कुरा पड़ी और बोली लगता हे तुम्हे पुराने दिन याद आ गए! अब तो पक्का तुम्हारा बड़ा हो गया है.

अब वो धीरे धीरे मेरी जांघ पर मालिश करते हुए लंड को टच करने लगी. मेरी तो हालत ख़राब हो रहा था. आँख भी बंद हो गई थी. ये देख कर रश्मि बोली लगता हे मेरे छोटे बाबु को कुछ और भी चाहिए!

अब उसने मेरे तोवेल को खोल दिया. उसके मुहं के सामने फटाक से मेरा तना हुआ लंड आ गया. फिर मेरे लंड को हाथ में लेकर रश्मि गौर से देखने लगी और बोली ये तो काफी बड़ा हो गया है दो साल के अन्दर ही और मोटा भी!

मैं बोला हाँ रश्मि दी बिलकुल तुम्हारे बूब्स के जैसे ही. फिर रश्मि ने मेरे लंड पर तेल लगाया और वो उसकी मालिश करने लगी. मेरे लिए खड़ा रहना मुश्किल हो रहा था. तो मैं निचे लेट गया और रश्मि मेरे लंड को आगे पीछे कर के मालिश करने लगी. स्किन को पीछे कर के उसपर वो मालिश दे रही थी. मेरे लोडे से प्रीकम निकल रहा था.

रश्मि ने अचानक से मेरे लंड को अपने मुहं में ले लिया और चूसने लगी. मेरा तो जैसे सांस ही रुक गया था इतना मज़ा आ रहा था क्या बताऊ आप को. रश्मि की मुहं की गर्मी और सलाईवा मेरे लंड की जान निकाल रही थी. वो मेरे लंड को पूरा चुस्ती रही और बॉल्स से खेलने लगी. वो एकदम पोर्नस्टार की तरह लंड चुस्ती रही और 10 मिनिट में ही मैं झड़ गया. मेरा पानी रश्मि पूरा पी गई और चाट चाट के लंड को साफ़ कर दिया.

मुझे इतना मज़ा आया की क्या बताऊ! फिर रश्मि बोली वाह छोटे बाबू तुम्हारा पानी तो बहुत टेस्ट और गाढ़ा हो गया है अब तुम आराम से बच्चे पैसा कर सकते हो. मेरे पति का इतना बड़ा नहीं हे और वो मुझे अभी तक बच्चा नहीं दे सका. तो तुम मुझे बच्चा दो गे ना?

मैं बोला मैं कैसे दूँ दीदी? मैंने ऐसा कभी नहीं किया. वो बोली मैं सिखा दूंगी. फिर रश्मि ने कहा आओ मेरे सारे कपडे उतारो. मैंने पहले तो रश्मि का साड़ी खोला और फिर उसके ब्लाउस का एक एक कर के हुक खोला और पेटीकोट भी उतार दिया. वाऊ क्या मजेदार फिगर था उसका!

वो अन्दर भी ब्लेक कलर की ब्रा पेंटी में थी. मैं उसकी ब्रा उतारने लगा पर वो हुक खुल नहीं रही थी. उसने ही खुद अपनी ब्रा उतार दी. ब्रा खोलते ही दो दूध की फेक्ट्री मेरे सामने आ गई. एकदम गोल बड़े बड़े रसीले बूब्स थे वो. मैं तो उन्हें पकड़ के दबाने लगा. रश्मि आहे भरने लगी और बोली इन्हें चुसो छोटे बाबु.

मैं रश्मि को सुला के उसके बूब्स चूसता रहा. लाईट ब्राउन कलर की निपल्स एकदम कडक थी. रश्मि अह्ह्ह अह्ह्ह उईई अह्ह्ह ह्ह्ह्ह करने लगी. मैं उसकी दोनों बूब्स को बहुत चूसा और चाटा. रश्मि मेरे सर को पकड के निचे धकेल रही थी. मैं उसकी पेट को चाटते हुए धीरे धीरे उसकी चूत के ऊपर आ गया और पेंटी भी उतार दी. ओह माय गॉड क्या चूत थी उसकी!

एकदम लाईट ब्राउन कलर की टाईट फुल हुई चूत थी. रश्मि बोली इसे भी चाटो मेरे राजा. मैं उसकी चूत को जैसे ही अपने मुहं में ले लिया रश्मि एकदम से हिल गई और जोर जोर से मोअन करने लगी चाट चाट और जोर से चाट खा जा इसको! मेरा पति मेरी चूत नहीं चाटता है, अह्ह्ह्ह अह्ह्ह तू चाट ले जोर जोर से.

मैं भी चूत के अन्दर जीभ डाल के जोर जोर से चाटने लगा और चूत की रस को पिने लगा. रश्मि एक हाथ से अपनी एक बूब को मसल रही थी तो मैं भी उसकी दूसरी उबस को मसलने लगा. और चूत में जीभ घुसा के चाटने लगा.

कुछ देर बाद रश्मि और जोर से चिल्लाने लगी चाट अह्ह्ह चाट रुकना मत अह्ह्ह अह्ह्ह और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया. मैं उसका पानी चाट गया. अजीब सा टेस्ट था एकदम नमकीन.

फिर रश्मि उठी और मेरे लंड को पकड के चूस चूस के खड़ा कर दिया. और वो बोली इसे मेरी चूत में घुसाओ. वो अपनी लेग्स को फैला कर लेट गई और मैं भी अपने लंड को घुसाने लगा. पर मेरा ये फर्स्ट टाइम था इसिलए मेरा लंड फिसल रहा था.

मुझे बहुत शर्म आई. रश्मि हंस के बोली कोई बात नहीं छोटे बाबु पहली बार सब का ऐसा ही होता है.

और वो मेरे लंड को पकड के अपनी चूत के मुहं पर रखी और बोली अब धक्का दो. मैं एक जोर से धक्का मारा और मेरा लंड रश्मि की चूत को चीरते हुए अन्दर चला गया. रश्मि अह्ह्ह्ह उईइ माँ मर गई अह्ह्ह अह्ह्ह कर्ण के चिल्ला उठी. वो बोली तेरा लंड तो बहुत ही बड़ा हो गया हे, धीरे से डाल!

मेरा तो फर्स्ट टाइम था तो मेरे लंड में भी बहुत दर्द महसूस हुआ पर उसकी चूत की गर्मी से लंड में जैसे 440 वोल्ट का करंट दौड़ने लगा था. कुछ देर रुक के रश्मि भी अपनी गांड हिलाने लगी और मुझे आगे पीछे होने के लिए कहा.

मैंने भी रशमो को चोदना अब फास्ट कर दिया और रश्मि जोर जोर से मोअन करने लगी अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह यस यस अह्ह्ह्हह अह्ह्ह फाड़ दो मेरी चूत को अह्ह्ह अह्ह्ह. वो इतनी मदहोश हो चुकी थी की मेरे कमर चारो और लेग्स को फैला कर मझे जोर से चोदने को कह रही थी. मैं भी फुल स्पीड में उसे चोदने लगा था.

मेरा ये फर्स्ट अनुभव था तो ज्यादा देर मैं रोक नहीं सका खुद को, रश्मि का भी पानी निकलनेवाला था तो मुझे जोर जोर से चोदने को बोली. वो अह्ह्ह्ह चोद्द्द्दद्द्द आआआअ और जोर से अझ्ह्ह्हह्ह अह्ह्ह्हह्ह फाड़ दो मेरी चूत करने लगी थी. और वो अगली ही मिनिट झड़ गई. हम दोनों का पानी उसकी चूत में मिल चूका था. फिर उसने मुझे धक्का दे के अपने ऊपर से उठाया और बोली, छोटे बाबु अब आप छोटे नहीं बड़े बाबु हो गए हो.

मैंने उस से पूछा, रश्मि दी आप को मजा आया मेरा लंड लेने में?

वो बोली इतना मज़ा तो मुझे अपनी जींदगी में कभी नहीं आया था अमित.

मैंने कहा चलो नाहा लेते है. वो मुझे साथ में ले के बाथरूम में गई. और वहां पर उसने मेरे लंड के ऊपर साबुन लगा के साफ़ कर दिया. मैंने भी उसकी सेक्सी चूत को ऊँगली से धोया. मैंने कहा अब तुम आ गई हो तो मुझे मुठ नहीं मारनी पड़ेगी!

वो हंस पड़ी और उसने मेरे लंड के ऊपर एक किस दे दिया.

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age


Online porn video at mobile phone