लंड दिखा के चाची की चूत गरम की

Click to this video!
loading...

दोस्तों मेरा नाम पार्थ है और मैं गुजरात के भावनगर में रहता हूँ, और पिछले काफी समय से हिंदीपोर्नस्टोरीज.डॉट कॉम का रेग्युलर रीडर रहा हूँ. मेरी हाईट 5 फिट 7 इंच है और मेरा लंड 7 इंच लम्बा है.

आज की ये हिंदी सेक्स कहानी मेरी और मेरी चाची की है जिसे मैंने अपना बड़ा लंड दिखा के चोदा था.

loading...

अब मैं आप को अपनी चाची के बारे में बता दूँ. उसकी उम्र 35 साल की है और उसकी गांड मुझे सब से ज्यादा अच्छी लगती है. चाची के बूब्स काफी बड़े हे और वो उन्हें हिला हिला के चलती है.

loading...

ये बात उस वक्त की है जब मैं अपनी 12वी की एग्जाम ख़तम कर के हॉस्टल से घर पर आया हुआ था. जब मैं घर पहुंचा तब सब लोग बहुत खुश हुए लेकिन मेरी चाची की ख़ुशी का ठिकाना ही नहीं था जैसे. क्यूंकि मेरी चाची मुझे अपने दोस्त के जैसे ही मानती है.

सच कहूँ तो दोस्तों मैं अपनी चाची के बारे में पहले गलत नहीं सोचता था. लेकिन उस दिन सब कुछ बदल गया.

उस दिन सब लोग बहार गए हुए थे तब मैं और चाची अकेले ही घर पर थे. तब मैंने चाची को नहाने के बाद उसके रूम में कपडे चेंज करते हुआ देख लिया और देखते ही मैं तो चौंक गया. इतने बड़े बूब्स और गांड की तो बात ही मत पूछो. चाची एकदम पोर्नस्टार के जैसी सेक्सी लग रही थी.

तब मेरे ऊपर उसको चोदने का भुत सवार हो गया था मैं सोचने लगा की कैसे चोदुं चाची को. मुझे पता था की चाची ऐसे ही पटने वाली तो नहीं थी क्यूंकि वो चाचा जी के लोडे से संतुष्ठ थी. और मेरे चाचा जी उसको बहुत चोदते थे.

फिर मैंने एक प्लान बनाया चाची को जा के बोला की चाची मुझे दोपहर को खाना बना के उठाने आना मैं अभी सोने के लिए जा रहा हूँ. और फिर मैं अपने रूम में चला गया और वहाँ जा के पोर्न मूवी देखने लगा. और एक बार अपनी चाची के नाम की मुठ भी मार ली.

और बाद में चाची की चुदाई की कहानी भी पढ़ी. और साथ में लंड सहलाने लगा. थोड़ी देर बाद मुझे लगा की चाची मुझे उठाने के लिए आ रही है. तब मैंने अपना लोवर और अंडरवियर निचे सरका दिया ताकि मेरा तना हुआ लंड चाची को देखे. और मैं सोने की एक्टिंग करने लगा. जब चाची आई तो पहले तो वो चौंक गई और बाद में घूर के देखने लगी. मैं भी ये सब देख रहा था. और थोड़ी देर मेरा लंड देखने के बाद चाची ने मुझे उठाया और कहा खाना रेडी हो गया है चलो उठ के खा लो.

फिर मैं दुसरे दिन मेडिकल स्टोर पर जा के एक कंडोम का पेकेट ले आया और घर ला के चाची के रूम में जाकर कंडोम लगा के मुठ मारी. और मैं मुठ मारने लगा और चाची आ गई. लेकिन जब वो आई तभी मैंने अपनी आँखे बंद कर ली और मुठ मारता रहा. और मेरी चाची ये सब देख रही थी.

और वो देखने के बाद वहां से चली गई. जब मैं काम पूरा कर के उसके पास गया तो वो बोली तुम ये सब क्यूँ कर रहे हो? तो मैंने चाची को बोला चाची आई लव यु आप मुझे बहोत अच्छी लगती हो और मुझे आप के साथ एक रात बितानी है.

ये सुन के चाची ने मुझे कहा लेकिन ये सब गलत है. और अगर किसी को पता चल गया तो लोग क्या बातें करेंगे.

फिर मैं वहां से चला गया. लेकिन दुसरे दिन जब मैं सो रहा तो चाची आई मुझे उठाने के लिए. और मेरा लंड उस वक्त भी खड़ा हुआ था लोअर में. तम्बू बना हुआ था लोअर का. चाची ने इस बार अच्छी तरह से देखा और वापस चली गई. थोड़ी देर बाद वो वापस आई तो मैंने देखा की वो इस बार सिर्फ पेटीकोट और ब्लाउज में आई थी और मेरे पास आकर बैठ गई. और मुझे उठाने लगी. और लोअर के ऊपर से मेरा लंड सहलाने लगी तो मेरा लंड एकदम लोहें की तरह हो गया.

तो वो बोली मैं तुझे मेरी चूत दूंगी पर एक शर्त पर की तू मुझे सिर्फ कंडोम लगा के चोदेगा. मैंने झट से हां कर दी. और चाची को किस करने लगा. और चाची भी मेरा साथ देने लगी. करीब 10 मिनिट ऐसे ही चलता रह. बाद में मैंने चाची का ब्लाउज और पेटीकोट भी निकाल दिया.

और मैं देखता ही रह गया क्यूंकि चाची की चूत के ऊपर एक भी बाल नहीं था. मेरी चाची पेंटी नहीं पहनती है और मैं तो चूत देख के पागल ही हो गया. और उसकी चूत में झट से ऊँगली डाल दी और चाची के मुहं से आह की आवाज निकल गई. चूत थी एकदम गरम. बाद में चाची ने मुझे भी नंगा किया और मेरा लंड हाथ में ले के हिलाने लगी.

थोड़ी देर बाद मुहं में ले के लोलीपोप की तरह खाने लगी मुझे बहुत ही मजा आ रहा था. थोड़ी देर के बाद में मैं झड़ गया चाची के मुहं में ही.

फिर भी चाची ने मेरे लंड को अपने मुहं में ले के वापस खड़ा कर दिया. और अपनी टाँगे फैला कर सो गई और मैं उनके ऊपर सो गया.

और बाद में उसने कंडोम मेरे लंड पर लगाया और मेरा लंड उनकी चूत पर रखा और बोली जल्दी से डाल और मेरी चूत को फाड़ दे. और मैंने एक जोर का झटका दिया और पूरा लंड एक ही बार में घुसा दिया. और चाची ने सिसकी ली और बोली अह्ह्ह्हह अह्ह्ह. अब मैं धीरे धीरे से चाची को चोदने लगा.

चाची सिसकियाँ लेती जा रही थी अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह चोद मुझे चोद फाड़ दे मेरी चूत को अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह. और धीरे धीरे मैंने अपनी स्पीड को बढ़ा दी. और करीब पांच छ मिनिट तक के बाद मेरा पानी निकल गया. तभी चाची ने मुझे कस के पकड लिया और स्मूच करने लगी.

थोड़ी देर बाद जब चाची जाने लगी तो मैंने उसका हाथ पकड के वापस अपनी गोद में बिठा लिया. तो चाची बोली की अब क्या हुआ तो मैंने कहा आप की गांड मारनी टी बाकी है अभी. तो वो बली नहीं पीछे नहीं लेती मैं बहुत दर्द होता है. और वैसे भी तेरा लंड बहुत बड़ा हैं मेरी गांड को फाड़ डालेगा.

मैंने कहा आप कुछ भी कहो मेरे को आप की गांड मारनी है और मेरा लोडा अन्दर डालना ही हैं. तो वो थोड़ी देर सोचने के बाद बोली ठीक हैं पर धीरे से करना ओके? मैंने बोला हां ठीक है. तो वो डौगी स्टाइल में आ गई और मैंने उसकी गांड के छेद पर थूंक लगाया और लंड छेद पर सेट किया और जोर से धक्का लगाया तो आधा लंड गया और चाची की चीख निकल गई, ओह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह बहार निकाल बहुत दर्द हो रहा है और वो भागने लगी.

लेकिन मैंने उसे पीछे से पकड़ लिया और दूसरा धक्का लगा के पूरा लंड डाल दिया अन्दर और चाची की आँख में से आंसू निकल गए. थोड़ी देर ऐसे ही रहने के बाद मैंने धीरे धीरे अपना लंड आगे पीछे करना चालू कर दिया.

अब चाची का थोडा दर्द कम हुआ और वो भी मजे लेने लगी. और थोड़ी देर बाद मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और फुल स्पीड में हिलाने लगी.. और मैंने अब अपना पूरा माल चाची की गांड में ही भर दिया और चाची को किस कर के उसकी साइड में सो गया.

थोड़ी देर के बाद हम एक दुसरे को देख के हंसने लगे.

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age


Online porn video at mobile phone