घर के अँधेरे कमरे में दोनों चाचियों को एक साथ नंगी चोदा


Click to this video!
loading...

हेल्लो दोस्तों मैं मनीष आप सब के लिए अपनी पहली कहानी आज लेकर आया हूँ. मुझे उम्मीद है की आप को ये पसंद आएगी. तो चलिए टाइम खराब ना करते हुए मैं कहानी शरु करता हूँ. दोस्तों मैं हरयाना का रहनेवाला हूँ और जॉइंट फेमली में रहता हूँ. मेरी फेमली में मेरे मम्मी पापा और दो चाचा चाची भी रहते है. दोनों का एक एक बच्चा भी है. मेरी बड़ी चाची मीना का एक 15 साल का लड़का है और छोटी चाची शीतल की 8 साल की लड़की है. मेरे दोनों चाचा पंजाब में एक फेक्ट्री में लगे हुए है और वो दोनों दो हफ्ते में एक बार ही घर आते है. हिंदी पोर्न स्टोरीज डॉट कॉम  मैं करनाल में स्टडी करता हूँ इसलिए वही पर रहता हूँ. मैं घर में तभी आता हूँ जब मैं अपने एग्जाम दे के करीब 2 महीने के लिए फ्री हो जाता हूँ. और आगे बढ़ने से पहले मैं आप को बता दूँ की मैं अपनी दोनों चाची की चूत मार चूका हूँ. मैंने उन दोनों के साथ उतनी बार चुदाई की है जितनी उन्होंने अपने हसबंड के साथ भी नहीं की होगी. मेरे लोडे 6 इंच लम्बा और 2 इंच मोटा है इसलिए दोनों चाची उसके ऊपर फ़िदा है. मैं जब चाहूँ अपनी दोनों में से किसी भी चाची की चूत को लेता हूँ.

मेरी दोनों चाचियाँ सच में बड़ी ही मस्त है. अब मैं आप को उन दिनों की डिटेल बताता हूँ. बड़ी चाची मीना की मैं पहले बात करूँ. उसकी उम्र 34 साल की है और उसका 15 साल का लड़का है. एक बच्चे की माँ ओने के बावजूद भी वो जैसे की ऐसी ही जवान है. उसको देखकर लगता है की वो 25 -26 साल की ही है. रंग गोरा और चहरा एकदम खिला हुआ. उसके मस्त लाल लाल होंठ बस देखते ही चुने के दिल करता है. थोडा निचे चले तो गोल गोल बूब्स है हमेशा उनकी साडी के ब्लाउज को फाड़ने को बेकरार रहते थे. थोड़ी मोटी सी कमर पर एकदम सेक्सी. उसके निचे मोटे मोटे चूतड. और उसके ठुमकों पर मेरा लंड फ़िदा है!

loading...

छोटी चाची शीतल सच में बहुत ही कोमला है. उसको छुते ही ऐसा लगता है मानो किसी गुलाब की सॉफ्ट पंखडी को छू लिया हो. शीतल चाची बहोत ही सेक्सी है. उसकी उम्र 30 साल की हैं लेकिन लगती ऐसी है की अभी कोलेज में पढ़ती हो. एक लड़की होने के बाद भी उन्होंने अपना मस्त फिगर काफी ज्यादा मेंटेन किया हुआ था. शीतल चाची के जिस्म में 3 चीजें बहुत ही मस्त है, एक तो नशीली आँखे, और उसके बूब्स और उसकी मस्त टाईट गांड.

loading...

शीतल चाची के बूब्स मीना चाची से छोटे है. पर उनके बूब्स एकदम शेप में है और सेक्सी है. ओसे ही उनकी पतली सी कमर के निचे है उनके गोल गोल और काफी मजेदार चूतड. मैं अक्सर शीतल चाची की गांड को अपने हाथ से मसलता था. मैंने आज तक जब भी शीतल चाची के साथ सेक्स किया तब तब मैंने उसकी गांड को जरुर चाता है. उसके सॉफ्ट चूतड को गांड चाटने में उसे बड़ी मजा मिलती है और मेरे को चुदाई का नशा चढ़ता है.

मेरी दोनों चाची भी पढ़ी लिखी है. इसलिए वो दोनों बहुत ही चालाक है और उन्हें अच्छे से पता है की अपने पति को कैसे संभालना है. वो दोनों अपने फिगर और अपनी खूबसूरती का पूरा ध्यान रखती है. इसलिए उन्होंने पुरे गाँव के लड़के अपने पीछे लगाए हुए है. पर मैं किसी को अपनी चाचियों की तरफ देखने भी नहीं देता. और ना ही मेरी दोनों चाची किसी और की तरफ देखती थी. और दोनों मुझे अक्सर कहती थी की जब घर में ही 6 इंच का लौडा है फिर भला बहार क्या देखना किसी को भी. हिंदी पोर्न स्टोरीज डॉट कॉम 

इस बार जब मैं अपने एग्जाम दे के घर आया तो मेरे दिन काफी अच्छे चल रहे थे. मैं रात को मौका देख कर अपनी दोनों चाचियों को बारी बारी से चोद देता था. पर मेरा दिल कब से दोनों को एक साथ चोदने को था. एक दिन की बात हैं मैं जब उठा तो मैंने देखा की मम्मी घर पर नहीं है और पापा भी अपने काम पर गए हुए थे. मैंने किचन में जा के देखा की मेरी दोनों चाची खाना बना रही थी. मैं चुपके से किचन में गया और मीना चाची को पीछे से अपनी बाहों में भर लिया. उनके चिकने पेट पर मेरे दोनों हाथ थे.

मीना चाची पीछे मूडी और मुझे 20 सेकंड की लिप किस कर के बोली उठ गया मेरा राजा. इतने में शीतल चाची बोली मनीष कोई आ जाएगा तुम जाओ यहाँ से. ये सुनते ही मैंने मीना चाची को छोड़ा और भाग कर पीछे उनके जोर से पकड लिए और दबा दिए. जैसे ही चाची मुझे डांटने के लिए पीछे देखने लगी तभी मैंने उनके होंठो को भी अपने होंठो में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगा.

मेरी हरकत से शीतल चाची ने मुझे पीछे धक्का दे दिया और अपने रूम में चली गई. इतने में मीना चाची बोली तुम भी ना सुबह सुबह ही शरु हो जाते हो. चलो तुम पहले उसे चोद लो जाकर मैं अभी आती हूँ ये थोड़ा सा काम रह गया है. ये सुनते ही मैंने मीना चाची के पास जा के उसको अपनी बाहों में कस कस भर लिया. उसके गोरे गोरे गालों पर किस कर लिया और कहा चाची आज मैं आप दोनों को एक साथ चोदना चाहता हूँ प्लीज!

ये सुनते ही चाची थोडा गुस्से हुई और बोली ये कभी भी नहीं हो सकता! ऐसे ख़याल अपने दिमाग में ना लाना. मैंने पूछा की क्यूँ? इसमें बुराई क्या है वो मेरे को भी बताओ. जब आप दोनों ही मेरा लंड लेती हो फिर एक साथ एक बार चुदने में क्या दिक्कत है आप को?

तो चाची ने जवाब दिया की वो मेरी छोटी बहन के जैसी है और मैं उसके सामने नंगा कैसे हो सकती हूँ. और उसने मुझे कहा प्लीज अब तुम भी इस जिद्द को छोड़ दो. और उसने कहा जाओ जा के चोद लो शीतल को.

मुझे ये सुनकर सच में बहुत गुस्सा आ गया. मैंने कहा की आज के बाद मैं आप दोनों को तभी चोदुंगा जब आप दोनों एकक साथ चुदने के लिए मन जाओगी. बस ये कह कर मैं अपने रूम में चला गया. मैंने उस दिन रात तक खाना नहीं खाया. मम्मी के कहने पर मैं निचे सब के साथ खाना खाने के लिए तो गया. पर मैं डिनर नहीं कर रहा था. जब मम्मी ने मुझसे पूछा की तुझे आज ऐसा क्या हुआ है की तू डिनर नहीं कर रहा है?

तो मैंने जवाब दिया मम्मी आज मैंने अपनी दोनों चाचियों को एक काम करने के लिए कहा पर दोनों ने मेरे मुहं पर जवाब दे दिया. इसलिए जब तक मेरी दोनों चाचियाँ काम नहीं करेंगी मेरा तब तक मैं कुछ भी नहीं खाऊंगा. मम्मी इ कहा सुनो बहनों देखो मेरा एक ही बेटा है और ये थोड़े ही दिन के लिए यहाँ आता है इसलिए तुम दोनों इसे नाराज ना किया करो. कुछ दिनों की तो बात है फिर ये चला जाएगा अपनी पढ़ाइ के लिए. इसने जो कहाँ है वो कर दो इसके लिए.

मम्मी की बात सुनते ही वो एक दुसरे को देखने लगी. और कुछ देर बाद बोली मनीष तुम डिनर कर और फिर हम वो काम कर देंगी. ये सुनते ही मैंने डिनर कर लिया. मैं सुबह से भूखा था इसलिए मैंने बहोत सारा खाना खाया. मुझे ऐसे डिनर करते हुए देख के मेरी मम्मी और मेरी दोनों चाचियाँ हंसने लगी.

डिनर करने के बाद मम्मी पापा अपने कमरे में सोने के लिए चले गए. और मैं किचन में गया तो दोनों चाचियाँ बर्तन साफ़ कर रही थी. उनके पास आते ही उन दोनों मुझे बारी बारी से लिप किस करने लगी और वो बोली अब खुश! मैंने कहा हाँ मैं आज बहुत खुश हूँ. तो मीना चाची बोली पर हमारी एक शर्त है. मैंने कहा हाँ बोलो. चाची ने कहा देखो अगले हफ्ते हम सब ने तेरी बुआ की लड़की की शादी में जाना है. मैंने सोचा है की तब हम तीनो यही घर पर रहेंगे और बाकी सब को भेज देंगे. और सब के जाने के बाद ही हम ये सब करेंगे. मैंने एक झटके में हाँ कर दी. मैंने फिर से उन्हें जोरदार लिप किस किया और वापस जाने लगा. तभी शीतल चाची चलो थोड़ी देर के लिए मेरे कमरे में, मैं थोड़ी प्यासी हूँ! मैंने कहा नहीं चाची अब तो आप दोनों को एक साथ ही पिलाऊंगा अपने लौड़े का जाम.

कुछ दिनों के बाद वो दिन आ ही गया. मैं पहले से कंडोम और एक्स्ट्रा टाइम की टेबलेट ले आया था. जब मैं मम्मी पापा को छोड़ के आ गया बस स्टेंड पर. मैंने घर आ के दरवाजे को अंदर से बंद कर दिया. पूरा घर बहोत ही अच्छी रोमांटिक खुसबू से महक रहा था. मैंने मीना चाची के रूम में गया तो वो वहाँ पर नहीं थी. मैं फिर शीतल चाची के रूम में गया तो वहां एक पेपर पड़ा हुआ था बहार. उसके ऊपर लिखा हुआ था अंदर नंगे होकर ही आना. मैंने झट से अपने सारे कपडे उतार दिए. हिंदी पोर्न स्टोरीज डॉट कॉम 

और जैसे ही मैं अंदर गया तो मैं हैरान रह गया! पुरे कमरे में अँधेरा था और कमरे में केंडल जल रही थी. और मेरी दोनों चाची पूरी नंगी घोड़ी बनी हुई थी. वो अपनी अपनी गांड को हिला रही थी. दोनों के सेक्स चूतड मेरे को पागल कर रहे थे. मैं भाग कर उन दोनों के पास गया और दोनों की गांड पर हाथ फेरा.

और फिर निचे बैठ के दोनों के सेक्सी चूतडों को चाटने लगा. चूतडों को चाटने के बाद मैंने उनकी चूतों को भी पीछे से चाटना चालू कर दिया. और चूत चाटते हुए मेरी एक ऊँगली ऊँगली गांड में डाल दी. दोनों के मुहं से अह्ह्ह अह्ह्ह की आवाजें निकल रही थी. जब मीना चाची की चूत को ऊँगली से हिलाया तो उसके अंदर से पानी बहार आ गया. और फिर मैंने अपना ध्यान शीतल चाची की चूत पर लगा दिया.

मैंने महसूस किया की निचे से मेरे लंड को कोई पकड रहा था. मैंने देखा की निचे मेरी मीना चाची मेरे लंड से खेल रही थी. जैसे ही शीतल चाची की चूत पानी छोड़ा तो वो भी शांत हो गई और निचे फर्श पर बैठ गई. और निचे बैठ कर वो दोनों मेरे लंड को अब चूसने लगी थी. मीना चाची बोली आज हम दोनों के गले को चोदो मेरे राजा. ये सुन के मैंने शीतल चाची के मुहं में अपने लंड को भर दिया और मीना चाची को ऊपर कर के उनके साथ लिप किस करने लगा.

फिर मैंने बारी बारी दोनों को अपने लंड से फेस फकिंग किया. वो दोनों थकी हुई लग रही थी लेकीन टेबलेट की वजह से मेरा तो आज निकलना ही नहीं था. मैं मीना चाची को चोदता था मुहं में और जब वो थकती थी तो लंड को निकाल के शीतल चाची के मुहं में डाल देता था. और उन दोनों के मुहं से थूंक निकल निकल के उनके बूब्स भी गिले हो चुके थे. ऐसा 20 मिनिट तक और चला. मैंने अब उन दोनों को एक दुसरे के बूब्स चूसने के लिए कहा. दोनों ने अपने बूब्स को चूस और चाट कर अच्छे से साफ़ कर दिया. हिंदी पोर्न स्टोरीज डॉट कॉम 

फिर मैंने दोनों ही चाची को घोड़ी बना दिया. और बारी बारी से दोनों की चूत और गांड मारी. मैंने करीब 50 मिनिट के बाद 2 बार नहा चाची और 3 बार शीतल चाची की चूत का पानी निकाल दिया था. अब मेरे लंड की बारी थी. मैंने दोनों चाचियों को निचे लिटाया और दोनों को अच्छे से लंड चुसाया. और अपने लंड का पानी दोनों को आधा आधा पिला दिया.

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age


Online porn video at mobile phone