दोस्त की कुवारी बहन की चूत का मीठा स्वाद


Click to this video!
loading...

मेरा एक दोस्त है, राजेश. हम दोनों डॉक्टर हैं और साथ में एमबीबीएस का एजुकेशन खत्म किया था. उसकी एक छोटी बहन थी अंजलि. बहुत सुंदर थी. वह भी एमबीबीएस  पढ़ रही थी, और अभी पहले साल में थी. मैं पढ़ाई में हमेशा राजेश से अच्छा था और वो मुझ से पढ़ने में हेल्प लेता था, आप लोगों को पता होगा कि एमबीबीएस  का पहला साल काफी हार्ड होता है, तो अंजलि को भी काफी प्रॉब्लम आती थी, इस प्रॉब्लम की वजह से मे आगे चलकर अंजलि को चोद पाया.

जब अंजलि को प्रॉब्लम आती थी वह अपने भाई से पूछती थी और वह मुझे आकर पूछता था. मैं कई बार हेल्प भी किया था, फिर दिन में राजेश के घर गया था. मैं अक्सर उसके घर जाया करता था. लेकिन उस दिन मेरी किस्मत खुल गई. आंटी में राजेश को किसी काम से भेजा था और अंजलि को स्टडी में हेल्प चाहिए थी तो वह डायरेक्टली पहली बार मुझसे पूछने लगी. आज भी याद है उसने ब्लैक टॉप और जींस शर्ट पहना था, गोरी गोरी टांगे और लाल लाल गाल, मैं तो पागल हो गया था. वह मेरे सामने बैठी तो मेरा सारा ध्यान उसके नवल में था, ऐसा लग रहा था अभी टूट पडू. बूब्स भी एकदम गोल गोल और बड़े साइज़ ३२ थे, लेकिन उसको सूट करते थे, वह अपने बालों को हमेशा खुला रखती थी. मैं उसे किसी भी कीमत पर पाना चाहता था, लेकिन मेरी उस दिन हिम्मत नहीं हुई मैंने कंट्रोल किया और घर लौट आया. अब मैं रोज उसे चोदने के ख्वाब देखने लगा.

loading...

एक दिन मेरी लॉटरी लग गई. पता चला कि राजेश के पेरेंट गांव जा रहे थे शादी में, लेकिन अंजलि के एग्जाम्स थे तो वह नहीं जा सकती थी. मुझे पता था उसके साथ राजेश भी रुकेगा. मैंने सोच लिया कि जो करना है इसी बार करना पड़ेगा. मैं राजेश से पूछा कि उसके एग्जाम कैसे जा रहे हैं? तो उसने कहा कि अच्छे नहीं जा रहे, उसे प्रॉब्लम हो रही है. मैंने कहा कि मैं हेल्प कर देता हूं. तो वह बोला कि अंजलि को पूछता हूं. अंजलि को भी प्रॉब्लम था तो वह मान गई. मैं काफी खुश हो गया और सेफ्टी के लिए जाते जाते कंडोम लेकर गया, लेकिन राजेश के रहते मैं कुछ नहीं कर सकता था, तो मैंने राजेश को बाहर अटकाने का सोचा.

loading...

मैं उसके घर पहुंचने के बाद एक दोस्त को फोन किया जिससे राजेश ने 5000 रूपये उधार लिए थे. उसे बोला कि राजेश को ३-४ घंटे के लिए रोके रखना, उसके पैसे मैं दे दूंगा. तो उसने राजेश को कॉल किया राजेश मुझे बोला कि यार अर्जेंट काम से जाना पड़ेगा, और तू प्लीज अंजली को अकेला छोड़कर मत जाना. और अंजलि को पढ़ने के लिए बोल कर चला गया. फिर मैं अंजलि को बोला.

मैंने कहा तुम्हे पता है तुम्हारा भाई कहां गया है?

उसने कहा नहीं तो कुछ अर्जेंट ही होगा.

मैंने कहा तुम्हारा भाई बहुत कमीना इंसान है, वह कोई अर्जेंट काम से नहीं गया है.

अंजलि ने कहा मेरे भाई के बारे में ऐसे वैसे बात मत करो, मेरे भाई बहुत अच्छा है.

मैंने कहा तुम्हारा गुस्सा होना सही है लेकिन तुम्हें सच नहीं पता. वह अपनी गर्लफ्रेंड के पास गया है उसके घर पर. तुम्हें एग्जाम टाइम पर अकेला छोड़कर उसे तुम्हारी कोई फिक्र नहीं, बस अपना मतलब देखता है.

वो बोली मैं कैसे मान लूं? मेरे भाई की तो गर्लफ्रेंड भी नहीं है.

मैंने कहा मेरे पास उनके कुछ प्राइवेट फोटो है जो मैंने उसके मोबाइल से लिए थे. मैंने उन दोनों के किसिंग के पिक उसको दिखाएं, वह काफी उदास हो गई और बोलने लगी कि मेरा भाई ऐसे कैसे कर सकता है?

मैंने बोला कि जाने दो मैं तो बस तुम्हें सच बता रहा था. अब तुम अपनी पढ़ाई पर ध्यान दो. वह बुक लेकर बैठ गई लेकिन उस का पढ़ाई में मन नहीं लग रहा था. मैंने पूछा क्या हुआ तो उसने कुछ नहीं कहा.

अब मैं उसे एनाटॉमी पढ़ाने लगा मैंने उसे जानबूझकर रिप्रोडक्टिव पार्ट के एनाटोमी के क्वेश्चन पूछना शुरु कर दिया, उसके सारे जवाब गलत हो रहे थे. वह बहुत टेंशन में आ गई और रोने लगी. मैंने उससे बोला कि प्लीज रोना बंद कर दो. मैं तुम्हें पढा दूंगा, लेकिन उसका एग्जाम ४ दिन में था, तो वह बोली कि मैं पास नहीं हो सकती. मुझे कुछ नहीं आता. मैंने उसका हाथ पकड़ा और कहा एक ही रास्ता है थोड़ा हार्ड है लेकिन तुझे सब सो प्रतिशत समझ आ जाएगा. वह पहले सोचने लगी लेकिन कोई ऑप्शन नहीं था तो उसने पूछा कैसे? मैं बोला कि तुम्हें कुछ वीडियो दिखने पड़ेंगे. मैं दिखाता हूं चुपचाप देखना और वह मान गई. मैं उसे बेडरूम में कंप्यूटर पर वीडियो लगा कर दिए, उसे चेयर पर बैठा लिया और मैं उसके पीछे खड़ा हो गया. जब भी वीडियो प्ले करने जाता तो उसके बूब को टच कर रहा था. वीडियो प्ले किया उसमें एक लड़की अपने हर पार्ट को नंगा होकर समझती है. वह चुपचाप वीडियो देखने लगी लेकिन मैं जानता था कि उसे कुछ तो होगा देखकर. वह थोड़ा हिलने लगी मेरा ध्यान उस पर था. उसे थोड़ा अनकंफर्टेबल होने लगा उठ कर जाने लगी. तो मैंने कहा कि सारी वीडियो देख लो फिर ब्रेक लेना. वह बैठ गई अब मैंने इस बार माउस को नीचे गिराया और उसको लेने के लिए झुका. जुकते टाइम में पीछे से उसके ऊपर हो गया और उसके बूब्स मुझे टच हो गये. उसने हलका सा मोन किया तो मैं समझ गया कि वह भी गर्म हो चुकी है.

मैंने कहा अंजलि आई लव यू और फिर उसे किस करने लगा, वो मेरे जीभ के साथ खेलने लगी.

मेने एक हाथ से उसका निपल मसल दिया तो वो मोन करने लगी, उसकी आवाज काफी सेक्सी थी. मुझे और नशा चढ़ने लगा. मैंने उसकी गर्दन पर फिर से बाईट किया वह चिल्लाने लगी आह्ह औऊ अय्य्य ईई अहह माआया और उठने की कोशिश कर रही थी, लेकिन हाथ बांध के रखे थे. अब मैं उसके नवल पर पास गया, मैंने उसका टॉप हटा कर वहां किस करना शुरू किया, मैं नवल को लिक कर रहा था, वो पेट उठा उठा कर मजे ले रही थी, प्लीज सक मी प्लीज और करो और करो मुझे जोश चढ़ गया, में जीभ को नवल के गोल गोल घुमा रहा था और वह मजे ले रही थी.

उसके नवल मैं मैने चूमटी ले ली तो बहुत छटपटाने लगी, अह्ह्ह औउ ई मम्म मर गई आह्ह औऊ ईई ऐसा ना तड़पाओ.. मजा आ गया.. वह काफी मौन करने लगी.. अब मैंने उसका टॉप निकाल दिया उसने ट्यूब ब्रा पहना था ब्लैक कलर का. उस ब्रा में कैद बुब्स क्या लग रहे थे? गोल गोल गोरे गोरे प्यारे प्यारे दूध, मैंने बिल्कुल टाइम वेस्ट नहीं किया और ब्रा निकाल कर टूट पड़ा. कभी किस को चूसता तो कभी किस करता.. निप्पल को पकड़ कर मसल देता तो कभी जोर जोर से दबा रहा था.

वह जोर से और जोर से करो कहने लगी अहः औऊ ई इःह ओऊ अहह औउ हां आयी औउ ओऊ अह्ह्ह और मोन करने लगी.

अब मैं उसके शोर्ट खोल कर निकाल दिया, उसने ब्लैक पेंटि पहनी थी. मैंने उसे भी उतार दी. अब वो एकदम नंगी चेयर पर बैठी थी, उसकी चूत पर छोटे छोटे बाल थे, चूत एकदम चिकनी थी और पिंक थी, देख कर लग रहा था कि वह कुंवारी चूत है. मैंने उसके जांघ पर चुम्मी लेने लगा, वह चिल्लाने लगी. बोलने लगी प्लीज जल्दी करो.. जल्दी मुझे और मत तड़पाओ.. मैं नीचे उसके पैरों के बीच बैठ गया. उसको थोड़ा आगे सरका कर के अपना मुंह उसकी चूत में घुसा दिया, उसकी चूत चाटने लगा. एकदम गीली थी, उसका पानी काफी नमकीन था. मे उसे जीभ से चोदने लगा वह बहुत उछल लग रही थी और आःह औऊ अह्ह्ह ऐसे ही करो ऐसे ही बोल रही थी.

एकदम से वो टाइट होने लगी और चिल्लाने लगी.. अंजलि इतना हिलने लगी कि मैं समझ गया कि यह अब तो जडने वाली है, मैंने एक हाथ से उसका क्लिटोरिस पकड़ा और दूसरे हाथ की एक उंगली उसके चूत में डालने लगा, वह एक उंगली भी मुश्किल से जा रही थी उसकी चूत में, मैं कैसे तो धीरे धीरे उंगली अंदर डाल के हिलाने लगा और मचलने लगा.

अह्ह्ह औऊउ माआअ मैं गई काम से करके उसके चूत ने अपना पहला पानी छोड़ दिया, वह अपने चेयर में एकदम ढीली पड़ गई, पसीने से भीग चुकी थी. वह पूरी तरह से थक चुकी थी. मैंने उसके हाथ खोल दिए तो वह बेड पर लेट गई. अब मैंने अपने कपड़े खोल कर नंगा हो गया. मेरा लंड का साइज ६ इंच उसको सलामी दे रहा था. मैंने उसे बोला कि अब तुम्हारी बारी है लंड चूसने की… लेकिन वह मना करने लगी. मैंने देखा कि टाइम भी कम बचा था राजेश आ सकता है, इसीलिए मैंने फ़ोर्स नहीं किया.

मैं लंड पर कंडोम पहन लिया फिर भी चूत काफी टाइट थी तो मैंने थोड़ा लोशन लगा लिया चूत पर. मुझे डॉगी स्टाइल काफी पसंद है तो मैंने उसको बेड पर कुतिया बना दिया और पीछे अपनी बंदूक उसके चूत पर रख दी, मैंने उसके दूध को पकड़ा और पीछे से धक्का मारा.. थोड़ा सा अंदर गया लेकिन वह पागल के जैसे चिल्लाने लगी निकालो…. बाहर प्लीज निकालो… दर्द हो रहा है… निकालो प्लीज़… मैंने नहीं सुना और अब एक जोर का धक्का मार दीया. मेरा लंड सब कुछ फाड़ के अंदर घुस गया वह सीधा रोने लगी.. मैं मर जाऊंगी.. प्लीज… इसे निकालो… खून भी आने लग गया क्योंकि उसकी सील टूट चुकी थी.

मैंने कुछ मिनिट उसको किस किया और इंतजार किया, जब वह भी ठीक हुई तो मैंने धीरे धीरे चोदना शुरू किया. क्या मजा आ रहा था? जन्नत थी वह जन्नत.. मैं उसे धीरे धीरे चोद रहा था और अब वह भी थोड़ा आगे पीछे हीलने लगी.

में बूब्स को पकड़ के आगे पीछे कर रहा था, लंड अंदर बाहर होते टाइम पच पच पच पच आवाज सारे रूम में घूम रही थी. वह मौन कर रही थी आह्ह उऔउ अहह औऊ औईइ माआआ प्लीज और जोर से करो.

मैंने अब अपनी स्पीड बढ़ा दी. हम दोनों भी ऐसी में पसीने पसीने हो गए थे, वह फिरसे टाइट हो रही थी. मैं समझ गया और मैंने भी स्पीड बढ़ा दी.१०-१५ मिनट तक फुल चोदने के बाद है मैं भी अब छूटने वाला था, मैंने उसे अपने ऊपर ले लिया और उसको उछलने को कहा… वह झट से मेरे ऊपर आ गई, उसने जो कमर हिलाई क्या बताऊं? एक मिनट में मेरा सारा कंट्रोल उडा दिया और मैं छूट गया. वह भी थक के मेरे ऊपर ही गिर गयी. वह इतनी खुशी लग रही थी कि क्या बताऊं? उसका वह भीगा बदन आज भी मेरी रातों की नींद उड़ा रहा है.. कुछ देर लेटने के बाद हम उठकर रेडी हो गए, फिर राजेश आने तक हमने बहुत किस किया.

अब वह मेरी गर्लफ्रेंड है और मैं अक्सर पढ़ाई के बहाने उसे चोद देता हूं.. मैंने अगली बार ही उसके मुंह में अपना लंड दिया और उसको लंड चूसने में एक्सपोर्ट किया.. अब तो वो किसी रंडी के जैसे लॉलीपॉप खा जाती है..

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age


Online porn video at mobile phone