आंटी ने सेड्युस कर के चुदवाया


Click to Download this video!
loading...

हेलो दोस्तों मेरा नाम राज है और मैं गुजरात का रहने वाला हूं, मैं २४ साल का हूं, यह सेक्स कहानी ६ साल पहले की है, जब मैं अपने अंकल आंटी के साथ रहता था. यह मेरी पहली चुदाई की कहानी है और मैं पहली बार आप लोगों के साथ शेयर कर रहा हूं.

जब मैंने १२ वीं का एग्जाम क्लियर किया तो घर वालो ने मुझे शहर में जा कर पढ़ने को कहा क्योंकि मैं पढ़ाई में बहुत ही होशियार था और गांव में अच्छा स्कूल नहीं था.. इसलिए पापा ने मेरा एडमिशन शहर में कर दिया और रहने का इंतजाम मेरे करीबी अंकल आंटी के वहां पर कर दिया.

loading...

मेरी आंटी का नाम पायल है और वह २८ साल की है उनके बूब्स का साइज़ ३८ है और गांड तो बहुत ही सेक्सी है, रंग बिल्कुल गोरा है और ५ फुट ५ इंच की हाइट है. उनका एक बेटा भी है ५ साल का.. वह एक कंप्लीट माल है जो किसी का भी खड़े खड़े पानी निकल सकती है. मुझे वह पहले से ही बहुत पसंद थी लेकिन कभी गलत नहीं सोचा था उनके बारे में..

loading...

अभी मेरा स्कूल शुरु होने वाला था इसलिए मैं उनके घर आ गया.. उनके घर में अंकल-आंटी उनका बेटा और दादी यानी अंकल की मां यह चार लोग रहते थे.. अब मैं भी वहां रहने लगा. मुझे वहां बहुत अच्छा लग रहा था क्योंकि आंटी मेरा बहुत ख्याल रखती थी ऐसे ही एक महीना पूरा हो गया.

एक दिन उनके बेटे का बर्थडे आया तो मैंने और आंटी ने एक छोटी सी पार्टी अरेंज करने का फैसला किया, शाम को पार्टी थी तो हम दोपहर से ही मेरे स्कूल के आने के बाद तैयारी शुरू कर दिए. अंकल तो ऑफिस गए हुए थे और दादी की उम्र होने की वजह से वह आराम कर रही थी.

मैं और आंटी ने खाना खाने के बाद तैयारी शुरु कर दी घर को सजाने की.. उस टाइम पर आंटी कई बार मुझ से टच होने लगी. उनके बूब्स, हाथ, गांड मुझसे टच होने लगे मुझे बड़ा अजीब लगा.

इतने में लाइट चली गई और गर्मी के कारण आंटी का ब्लाउस पूरा गीला हो गया और उसमें से उनकी ब्रा विजिबल होने लगी. फिर आंटी ने गर्मी की वजह से अपने ब्लाउज के दो बटन खोल दिए, उनके मिल्की बुब्स आधे बाहर आ गए और अब वह काम करने लगी लेकिन मेरा हाल बहुत बुरा हो रहा था.

मेरा लंड पेंट में खड़ा हो गया और उसमें टेंट बन गया जो विजिबल था. आंटी ने उसको देख लिया और एक स्माइल कर दिया और फिर वह अपना काम करने लगी. मुझे बहुत अनकंफर्टेबल फील हुआ और मैं टॉयलेट जा कर मुठ मार दिया.

फिर शाम को पार्टी में आंटी ने गजब की साड़ी पहनी थी उनका ब्लाउज भी स्टाइलिश था, पूरा बेक दिख रहा था और आगे क्लीवेज भी.. पूरी माल लग रही थी. मैं तो सिर्फ उनको ही देख रहा था और उनको अंजाने में टच कर रहा था. यह शायद उनको मालूम था.. पार्टी में कई बार मै उनके बेटे को गोद में लेने के बहाने बूब्स दबा देता था. फिर पार्टी खत्म हो गई.

अब मैं हर वक्त उनको उस नजर से देखने लगा, उनकी ब्रा को सूंघने लगा. पैंटी को लेकर मुठ मारने लगा, अनजाने में उनके बूब्स को टच करता.

एक बार हमें काम से गाँव जाना था तो मैं, अंकल और आंटी एक बाइक पर ही चले गए.

मैं बीच में बैठा था तो मेरे बेक पर आंटी के बूब प्रेस कर रहे थे, मुझे बहुत मजा आ रहा था. पूरा १ घंटे का सफर था, मेरा लंड पूरा सफर में दो बार खड़े होकर पानी निकाल दिया बिना मुठ मारे ही. शाम को हम वापस हम घर आ गए मैंने उस रात दो बार मुठ मारी और सो गया.

अगले दिन मेरी छुट्टी थी तो मैं सुबह तैयार होकर टीवी देखने लगा, फिर आंटी ने पोछा  और झाड़ू लगाने लगी, वह जुक के पोछा लगा रही थी और उनके बूब्स आधे से ज्यादा बाहर लटक रहे थे, मेरा फिर से खड़ा हो गया.. अब में कंट्रोल नहीं कर पा रहा था इसलिए मैं आंटी के बेडरूम में चला गया और बेड पर लेट गया.. वहां पर उनकी मैक्सी पड़ी थी तो मैं उसे सूंघने लगा, उसमें से आंटी के बदन की मादक खुशबू आ रही थी..

मैं वही पर मुठ मारने लगा इतने में आंटी आ गई और मैंने अपने आपको ठीक कर लिया. आंटी ने अपनी मैक्सी ले ली, शायद उन्होंने मुझे देख लिया था, फिर वह किचन में चली गई.. थोड़ी देर उन्होंने दादी और उनके बेटे को खाना खिला के ऊपर सोने के लिए कह दिया.. फिर मुझे खाने के लिए आवाज़ लगाई. में शरमाते हुए चला गया आंटी कुछ नहीं बोली चुप थी.

फिर खाना खाने के बाद में वापस उनके बेडरूम में जाकर पढ़ाई करने लगा, फिर वह सारा काम खत्म करके सोने के लिए आ गई और अपनी साडी का पल्लू साइड में करके मेरे बाजू में लेट गई, उनके ब्लाउज में से बूब्स सोने की वजह से पूरे फ़ैल गए थे, बहुत ही मस्त लग रहे थे. थोड़ी देर में वह सो गई लेकिन मुझे कुछ होने लगा, उनको ऐसी हालत में देख कर.

फिर मैंने किताब को साइड में रख दिया और उनके बदन को निहारने लगा, सूंघने लगा तो थोड़ी देर में मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया, मैंने हिम्मत करके अपना एक हाथ उनके बूब्स पर फेरने लगा बहुत ही सॉफ्ट थे.

१०  मिनट तक में करता रहा, वह बहुत नींद में थी.. तो मेने ह्ल्ल्के से उनके बूब्स को दबाया. २-३ बार दबाते ही उनके बूब्स कडक हो गये. मैं अपना कंट्रोल खो चुका था. मैं ऐसे ही बूब्स को दबाये जा रहा था, और एक हाथ से अपने लंड को मसल रहा था. इतने में बाहर से कोई टायर फटने की आवाज आई और वह झाग गई..

आंटी – यह क्या कर रहे हो?

मैं – कुछ नहीं आंटी पढ़ाई कर रहा था.

आंटी – ऐसे पढ़ाई करते हैं?

मैं – सॉरी आंटी मैं तो वैसे ही..

तुझे इस उमर में पढ़ाई पर ध्यान देना चाहिए, इसके लिए अभी बहुत टाइम हे.

मैं – आंटी लेकिन मैं क्या करूं? आपको देखता हूं मुझे कुछ होश नहीं रहता.. आप बहुत अच्छी लगति है.

आंटी – हसते हुए अच्छा ऐसा क्यों?? मुझ में ऐसा क्या है जो तुझे अच्छा लगता है??

मैं – आपका सब कुछ अच्छा लगता है आपका फेस आपके बाल, आपकी आवाज..

आंटी – और क्या?

मैं – आपका फिगर.

आंटी – चल झूठे.

मैं – सच में आंटी आपका फिगर बहुत ही अच्छा है, उसे देख कर मुझे कुछ होता है.

आंटी – क्या होता है?

में – यहां पर कुछ होता है (लंड पर इशारा करते हुए)

आंटी – अभी तो तू छोटा है, अभी ऐसा नहीं होता.

मैं – सच में आंटी और मैंने अपना पैंट निकाल कर लंड दिखा दिया..

आंटी चौंक गई अरे यह क्या कर रहा है तू?

फिर वह मेरे लंड को देखने लगी, फिर उसे हाथ में पकड़ लिया और मैं तो जन्नत में पहुंच गया. मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया आंटी हंसने लग.

आंटी – तू तो सच में बड़ा हो गया है.

मैं – आंटी इसका कुछ इलाज करो आंटी.

आंटी के थोड़ी देर लंड पकड़ने ने से मेरा पानी निकल गया उनके हाथ पर..

आंटी – ओह्ह छि यह क्या किया तूने?

मैं – आपके हाथ इतने सॉफ्ट हे कि मैं कंट्रोल नहीं कर पाया.

फिर आंटी बाथरूम में चली गई अपने हाथ साफ किए और मैक्सी पहन के आ गई.. मेरा लंड अभी भी बाहर था आंटी क्या माल लग रही थी, मेरा फिर से खड़ा होने लगा. यह देख आंटी ने कहा इसका कुछ करना पड़ेगा, और वह मेरे पास आई और मेरे हाथ पकड़ कर अपने बूब्स पर रखे  मैं तो जैसे जन्नत में पहुंच गया.

आंटी – तुझे पसंद है ना यह तो दबा इसे पी ले सारा दूध.

मेरी तो लॉटरी लग गई, में तो उनके दूध पर टूट पड़ा और काटने लगा, वह बोली आराम से करो मैं यही हूं. फिर उन्होंने कहा तेरे बड़े चाचा भी मेरे दूध ऐसे ही चूसते हैं, मैं तो एकदम से हैरान हो गया और बोला बड़े चाचा जी??

आंटी – हां, जब से मैं शादी करके आई हूं वह मुज़े मौका मिलते ही चोद देते हैं क्योंकि उनकी बीवी बहुत मोटी है.

फिर मैं अपने काम में लग गया और बूब्स को चुसने लगा. फिर मैंने आंटी से कहा कि आप मुझे मुठ मार दोगी? तो उन्होंने जट से मेरा लंड पकड़ कर हिलाने लगी और थोड़ी देर बाद मुह में ले लिया, मुंह में लेते ही मेरा पानी निकल गया और मैं निढाल हो कर उनके ऊपर सो गया..

आंटी ने मुझे साइड किया और जाने लगी, तभी मैंने उनका हाथ पकड़ कर उनको चोदने के लिए पूछा.

आंटी – नहीं, तुम अभी छोटे हो. इतना किया वह बहुत है, अभी और कुछ नहीं.

मैं – प्लीज आंटी सिर्फ एक बार फिर कभी नहीं.

आंटी – ठीक है लेकिन किसी को बोलना मत.

मैं मान गया और आंटी बेड पर आ गई, मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए और आंटी ने अपनी मैक्सी उतार दी. वह मेरे ऊपर आकर मुझे किस करने लगी, लगातार १५ मिनट  किस करने के बाद उन्होंने मेरे लंड को मुंह में लिया 69 पोज में. और मुझे चूत चाटने को कहा.

उनकी चूत एकदम क्लीन शेव थी. तो मे उनकी चूत चाटने लगा. पहली बार मैंने किसी की चूत चाटी थी. फिर आंटी सीधी हो गई और मेरे नीचे आ गई, मेरे लंड को पकड़ कर चूत पर लगा दिया और मुझे धक्का लगाने को कहा.

मैंने धक्का लगाया तो मुझे बहुत दर्द हुआ, तो आंटी ने कहा पहली बार है इसलिए थोड़ा दर्द होगा. फिर मजा आएगा मैंने फिर से धक्का लगाया तो मेरा पूरा लंड घुस गया, फिर थोड़ी देर में ऐसे ही रहा. मेरे लंड से खून बह रहा था, आंटी ने मुझे आगे पीछे करने को कहा तो मैंने धीरे धीरे ऐसा किया, फिर स्पीड बढ़ाई अब मुझे बहुत मजा आ रहा था.

फिर १५ मिनट में ऐसे ही चूत मारने लगा और मैं झड़ने वाला था, तो मैंने आंटी से पूछा मेरा निकलने वाला है, तो उन्होंने कहा अंदर मत निकालना. फिर मैंने अपना लंड आंटी के मुंह में दे दिया और धक्के लगाने लगा, और उनके मुह को चोदने लगा.

पांच से छह छक्के लगाने के बाद मैंने पानी निकाल दिया और आंटी का सारा मुह पानी से भर गया, वह मेरा पानी पी गई और मेरे लंड को साफ कर दिया, फिर मैं उनके ऊपर सो गया

फिर १ घंटे के बाद हम दोनों उठे, उन्होंने मुझे किस किया और कपड़े पहनने लगी क्योंकि शाम हो गई थी. मुझे उस दिन पहली बार चूदाई का सुख मिला.

अबी तो मे रोज आंटी का दूध पीता हूं, उनके बूब्स चुसके, जब वह किचन में होती है तो पीछे से पकड़कर अपने लंड उनकी गांड पर मैं मसलता हूं और दूध दबाता हु. वह मुझे बहुत प्यार करती है, जब वह मुझे सुबह उठाने आती है तो मेरा लंड चूस कर उठाती है.

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age


Online porn video at mobile phone


chhat pe chudaimaa chudai story in hindiholi me bhabhi ki chudai ki kahanisuhaagraat sex storiesmosi ki chudai ki kahanikàmuktadada se chudaichachi ki sex kahanichudai vartanew latest hindi sex storymaushi chi gaandtution teacher ki chudaibhikharan ko chodasasur ne choda hindi kahanilaunde ki gand marihindi sex porn storybhabhi ko bus me chodadesi family chudai kahaniporn sex hindi storysasur ne choda sex storybhai bhan ki sexy storysister ki chudai in hindibhai ne choda raat kochudai story hindi fontdost ki mummy ko chodacall girl sex storybus me chachi ko chodajeth se chudiindian porn kahanisasur se chudwayaindian sex hindi storyxxx hindi storyiss story in hindibhai ne hotel me chodabahan ki saheli ki chudaianchal ki chudaihindi font chudai kahanigujrati sexi kahanicousin ko jabardasti chodamousi ki chudai ki khanipunjabi hot storygay porn story in hindisaas ki gand mariapni boss ko chodalong hindi sex storiessasur bahu ki chudai hindi memote choochebehan ko pregnant kiyamosi ko choda kahanisasur se chudai hindi storysex with aunty story in hindimodeling ke bahane chudaihindi sex stochudai ki kahani ladki ki jubanirajni ki chutchhote lund se chudaimausi ki chudai new storychut chatai ki kahanibahan ki chudai dekhisex story in familydadaji ne chodasex erotic stories hindichudai ke chutkulemammy ki gand marirandi ki chudai hindi kahaniantarvasna bookjeth ne bahu ko chodaneeta ko chodahindi chudai ke chutkulehindi sex picmaa ki chudai desi storieshawas ki kahanihindi sex photoantarvasna 2behan ki saas ko chodasexy story with photodidi ki saheli ki chudaichor se chudaisasur bahu chudai ki kahanituition chudaikhala chudaifull sex storypron hindi storysexy hindi latest storieshindi xxx sex storydesi story comrandi ko choda kahanipron hindi story